Headlines
Loading...
राजधानी मे पानी पानी से जीवन अस्त व्यस्त

राजधानी मे पानी पानी से जीवन अस्त व्यस्त


राजधानी मे पानी पानी से जीवन अस्त व्यस्त

पटना के पानी पानी होने और राजधानी वासियों के जल कैदी बनने के बाद अगर सबसे अधिक किसी अधिकारी की खोज हो रही थी तो वो थे पटना के कमिश्नर आनंद किशोर। पटना में जलप्रलय पर राजधानी वासी उन्हें सड़क पर तो नहीं देख रहे थे मीडिया में भी कहीं उनकी खोज खबर नहीं थी। सोशल मीडिया में आनंद किशोर की जबरदस्त खोज हो रही थी। लोग आपस में एक दूसरे से पूछ रहे थे कि पटना के कमिश्नर साहब को किसी ने देखा है क्या? लोग इस बात पर चर्चा कर रहे थे कि कमिश्नर साहब इस जल प्रलय में भी कहीं दिख नहीं रहे हैं। जबकि वे हमेशा वाहन चेकिंग अभियान चलाते पटना की सड़कों पर दिख जाते थे।
कमिश्नर साहब आज पटना में पहुंच गए हैं और आने के साथ ही उन्होंने अधिकारियों के साथ तूफानी बैठक की। जलजमाव की स्थिति की समीक्षा की और फिर अधिकारियों को कई दिशा-निर्देश भी दिए ।मीटिंग खत्म होने के बाद पटना डीएम के साथ वे राजधानी की सड़कों पर निकल कर हालात का जायजा लिया।
हालांकि अब राजधानी के अधिकांश इलाकों से जल निकासी हो गई है ,सिर्फ दानापुर नगर परिषद क्षेत्र में अभी भी जलजमाव है। पटना कमिश्नर ने पूरे दल बल के साथ इलाकों का निरीक्षण किया है। आनन्द किशोर ने आज जल जमाव से प्रभावित नन्दलाल छपरा, बादशाही पाईन एवं खेमनीचक का निरीक्षण किया। कमिश्नर के साथ पटना के डीएम कुमार रवि, नगर आयुक्त अमित कुमार सहित नगर निगम एवं जिला प्रशासन के पदाधिकारी मौजूद थे।



0 Comments: