Headlines
Loading...
छात्राओं की अश्लील तस्वीरें शेयर करने में नप गए गुरुजी

छात्राओं की अश्लील तस्वीरें शेयर करने में नप गए गुरुजी



छात्राओं की अश्लील तस्वीरें शेयर करने में नप गए गुरुजी
___________________________________________

पटना ग्रामीण से रवि शंकर शर्मा की रिपोर्ट


मोकामा में सोशल मीडिया पर एक रैकेट जिसमें गुरुजी समेत उनके कुछ चेले भी शामिल थे उन्हें पुलिस ने छात्राओं की तस्वीरों के साथ छेड़छाड़ कर उसे अश्लील रूप में बदल कर सोशल मीडया पर शेयर करने का सनसिखेज मामला प्रकाश में आया है।मामले की जानकारी मिलने पर एक पीड़ित नाबालिग बच्ची ने इस बाबत एक शिकायत अपने पिता के साथ जाकर मोकामा थानाध्यक्ष सह इंस्पेक्टर राजनंदन से की । थाना अध्यक्ष ने इसकी सूचना तत्काल ASP लिपी सिंह को दी। सहायक पुलिस अधीक्षक लिपि सिंह ने थानाध्यक्ष को इस मामले में साइबर टीम को साथ लेकर तत्काल और प्रभावी करवाई के निदेश दिए।  इसके उपरांत थानाध्यक्ष ने छानबीन शुरू कर दी ।ASP वैसे तो हर आपराधिक मामले को गंभीरता से ही लेती हैं और फौरी करवाई करने के लिये ख्यातिप्राप्त भी हैं। परंतु चूँकि मामला नाबालिग छात्राओं से जुड़ा था अतः उन्होंने 24 घण्टे के अंदर आरोपियों की गिरफ्तारी के आदेश दिये और थानाध्यक्ष राजनंदन ने महज 12 घण्टे में आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।गिरफ्तार आरोपी एक पुराने गुरुजी निकले जिनकी पहचान साहबेगपुर निवासी संजय कुमार सिंह के रूप में हुई है।प्रेस वार्ता के दैरान ASP ने बताया कि ये एक ऐसा मामला है जिसमें पीड़िता के उसके पूरे परिवार के आत्मसम्मान के साथ आरोपी न सिर्फ खिलवाड़ करते हैं बल्कि उसका परिवार समेत हौसला भी तोड़ देते हैं।इसलिए ऐसे अपराध में सख्त से सख्त करवाई की जायेगी। ASP लिपी सिंह ने शिकायत करने वाली बच्ची औऱ उसके पिता की भी सराहना की। सहायक पुलिस अधीक्षक ने बताया कि मामले में दर्जन भर बच्चियों को टारगेट कर उनकी तस्वीरों से छेड़छाड़ कर अश्लील तरीके से सोशल साइट्स पर डाल दिया गया साथ ही अश्लील टिप्पणियाँ भी की गई।गिरफ्तार आरोपी के बारे में बताया कि वो निजी तौर पर कोचिंग भी चलाता है और कई विद्यालयों में विजिटिंग शिक्षक रूप में पढ़ाने भी जाता है और गलत हरकतों के कारण उसे पहले कई स्कूलों से निकाला भी जा चुका है।इस मामले में गुरुजी ने अपने साथ कुछ छात्रों को भी शामिल कर रखा था जिसकी तलाश पुलिस तत्परता से कर रही है।गिरफ्तार आरोपी के बारे में लोगों का कहना है की वो पुराना शराबी भी है। लोगों ने बताया की उसने  गुरु शिष्य के रिश्तों को कलंकित कर दिया है और उसी का परिणाम आज सामने आया है।इसके बाबजूद आरोपी के परिजनों का कहना है कि उनके सोशल एकाउंट को हैक कर कोई और ऐसा कर रहा था लेकिन सवाल ये है कि जो छात्र उनके इशारे पर इस कार्य को अंजाम दे  रहे थे क्या सबका एकाउंट हैक हो गया था? औऱ अगर हो भी गया था तो इतने आरोपियों में हैक होने की शिकायत कभी पुलिस से क्यों नही की?थानाध्यक्ष राजनंदन ने बताया कि गुरुजी के एक चेले सोनू को भी गिरफ्तार कर लिया गया है जबकी अन्य की तलाश जारी है।