Headlines
Loading...
बहन का दहेज भाई का बना काल, सड़क हादसे में मौत

बहन का दहेज भाई का बना काल, सड़क हादसे में मौत


बहन का दहेज भाई का बना काल, सड़क हादसे में मौत
____________________________________________
पटना ग्रामीण से रवि शंकर शर्मा की रिपोर्ट

कभी कभी समय का पहिया ऐसा घूमता है कि शुभ कार्य भी अशुभ में तब्दील हो जाता है , इतना कि जान से ही हाथ धोना पड़े। सतयुग से चले आ रहे दहेज की परंपरा के खिलाफ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आवाज तो जरूर उठाई पर समाज के आगे उनकी आवाज बेअसर होकर रह गई, देश मे दहेज देना और लेना दोनो अपराध है बाबजूद इसके बिना दहेज शायद ही शादियाँ हो पाती है, वस्तुतः दहेज सभी जाति धर्म से ऊपर किसी पारलौकिक शक्ति की तरह हो गया है जिसका  कोई अंत नजर नही आता। इस दहेज के कारण लाखों जाने प्रतिवर्ष जाती है तो मादा भ्रूण हत्या का भी प्रमुख कारण दहेज ही है।ऐसा भी नही कहा जा सकता कि दहेज अशिक्षा जनित है बल्कि जो जितना पढ़ा लिखा औऱ बड़े पद पर बैठा है या जो एलीट क्लास के माने जाते हैं उनमें ये रोग सबसे अधिक मात्रा में पाया जाता है।आज इसी परम्परा को निभाने के क्रम में बहन को तिलक में नई मोटरसाइकिल पहुंचाने जा रहे व्यक्ति की सड़क हादसे में मौत हो गई। बताया जाता है कि युवक बिहटा से जमुई के लिए मोटरसाइकिल पर सवार होकर जा रहा था। इसी दैरान बाढ़ के एनटीपीसी थाना से सटे गौरक्षणी मोड़ के पास स्कार्पियो ने टक्कर मार दी और इस हादसे में युवक की मौत हो गई।  मृतक की पहचान गुड्डू ठाकुर पिता कामेश्वर ठाकुर विशंभर पुर बिहटा निवासी के रूप में हुई है। पुलिस ने लाश को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए बाढ़ अनुमंडलीय अस्पताल भेज दिया है।