Headlines
Loading...
दो महिलाओं की अहम के जंग में कबाड़ होता नगर परिषद

दो महिलाओं की अहम के जंग में कबाड़ होता नगर परिषद



बाढ़ नगर परिषद के ज्यादातर वार्ड पार्षद इन दिनों नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी सुश्री जया के खिलाफ अनिश्चितकालीन धरने पर हैं। पहला धरना विधिवत नहीं होने के बाद पुनः दूसरी बार धरना पर बैठ जाने से शहर की सूरत बिगड़नी शुरू हो गई है। धरना का आज तीसरा दिन है और नगर में सफाई का कार्यक्रम करीब एक पखवाड़े से बंद है जिस कारण सड़क पर गंदगी का अंबार पड़ा हुआ है। इससे नगर परिषद के वार्ड पार्षदों को कुछ लेना देना नहीं है ,वे अभी सिर्फ एकजुट होकर कार्यपालक पदाधिकारी के साथ जंग लड़ने में जुटे हुए हैं ।हालाँकि आम लोगों की इस पर अलग-अलग राय है। हालात यह है कि शहर की सूरत पूरी तरह से बिगड़ चुकी है। सड़क पर नाले का पानी जगह-जगह फैलने लगा है लोग गंदे नाले के पानी से होकर आना जाना कर रहे हैं लेकिन कार्यपालक पदाधिकारी और नगर अध्यक्ष शकुंतला देवी को इससे कुछ लेना देना नहीं है ।लोगों का मानना है कि एक दूसरे के खिलाफ मोर्चा खोलने में ही दोनों आस्था रखते हैं । 

वही नगर विकास विभाग के अधिकारी का भी अभी इस गंभीर समस्या पर ध्यान नहीं है ।धीरे-धीरे स्थिति महामारी की ओर  बढ़ती दिख रही है, जिससे आम नागरिक आहत भी हैं और आक्रोशित भी। आम लोगों ने अब अनुमंडलाधिकारी सुमित कुमार और जिलाधिकारी कुमार रवि से हस्तक्षेप की माँग की है, ताकी महामारी फैलने से पूर्व स्थिति पर नियंत्रण किया जा सके।
(रिपोर्ट- रवि शंकर शर्मा)