Headlines
Loading...
01 दिसम्बर से रूलायेगा टेलिकॉम सेक्टर

01 दिसम्बर से रूलायेगा टेलिकॉम सेक्टर



01 दिसम्बर से देश भर मे मोबाइल टैरिफ का बढना तय है इसका कारण यह है कि दुर संचार नियामक टैरिफ कम्पनियों के तरफ से कि जाने वाली बढोत्तरी प्रायः से मिले सुत्रों के मुताबिक मोबाइल टैरिफ बढाने का फैसला कर ही लिया है तो अब ऐसे मुल्य निर्धारित करने का कोई मतलब नही रहता ,  TRAI  का कहना है सिमित टैरिफ बढोत्तरी मे कोई रूकावट नही डालना चाहता हाल ही मे TRAI ने टेलिकॉम सेक्टर से जुड़े लोगो के साथ एक बैठक की थी ,  इसमे टेलिकॉम सेक्टर से जुड़े लोगो को न्यूनतम मुल्य निर्धारित करने कि बात कही थी दुसरी ओर कुछ लोगो ने इसका विरोध भी किया था इसपर फिलहाल नियामक ने विचार करने से मना किया है ,  आर्थिक स्थिति का सामना कर रही टेलिकॉम कम्पनियों टैरिफ मे बढोत्तरी कि धोषणा कर चुकी है सबसे पहले वोडाफोन आइडिया ने 01 दिसम्बर से टैरिफ बढाने कि धोषणा कि थी फिर उसके बाद फिर एयरटेल ने भी टैरिफ बढाने कि धोषणा कि थी टेलिकॉम सेक्टर कि ओर से दोनो कम्पनियों कि तरफ से बढोत्तरी होने के बाद रिलायन्स ने भी टैरिफ मे बढोत्तरी का ऐलान किया था ,  टेलिकॉम सेक्टर से जुड़े लोगो कि माने तो टैरिफ मे 10 से 15 फिसदी कि बढोत्तरी कर सकता है विशेषज्ञों का कहना है कि AGR पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर देनदारी का दबाव बढ गया है ऐसे मे कम्पनियों टैरिफ बढाकर इसकी पुर्ति करना चाहती है यदि कम्पनियों 10 फिसदी कि बढोत्तरी करती है तो ऐसे उन्हें तीन साल मे ₹3500 हजार करोड़ राजस्व मिलने कि उम्मीद जताई जा रही है