Headlines
Loading...
छात्राओं के साथ साथ  मुहल्ले के लोगो को बताया गया कि डायबिटीज क्या है

छात्राओं के साथ साथ मुहल्ले के लोगो को बताया गया कि डायबिटीज क्या है



छात्राओं के साथ साथ  मुहल्ले के लोगो को बताया गया कि डायबिटीज क्या है। डायबिटीज क्या है डायबिटीज कैसे होता है इस बिमारी के लक्षण क्या है और अगर डायबिटीज हो गया तो क्या करना चाहिए अगर मेरे परिवार मे किसी को है तो हमे क्या सावधानी रखनी चाहिए।  इस तरह के बहुत सारे  प्रश्न  छात्राओं और,  शिक्षक और मुहल्ले के लोगो द्वारा किये जा रहे थे।  मौका था आसथा फाऊनडेशन द्वारा चलाए जा रहे वाक फार लाईफ डायबिटीज जागरूकता अभियान के तहत तहत डायबिटीज पर चर्चा का।  स्कूली छात्राओं के साथ साथ शिक्षक एवं अन्य लोगो ने भी डायबिटीज पर खुलकर चर्चा की डायबिटीज से संबंधित सभी प्रश्नों का जबाब शहर के मशहूर फिजिशियन डा दिबाकर तैजसबी ने  सही पूर्वक दिया।


 उन्होने बताया कि डायबिटीज पुरे विश्व मे मौत का दुसरा बडा कारण हो गया है।  करीब 12 करोड़ लोग पुरे भारत मे डायबिटीज से पीडि़त है   है और करीब 8 करोड़ लोग डायबिटीज होने के कगार पर ।  हमारी जीवन शैली खान पान के गलत तरीके से आज हर घर डायबिटीज के चपेट मे है।  आने बाले समय मे डायबिटीज का आंकडा दुगना हो जाएगा।  उन्होने छात्राओं से अपील की और कहा कि अगर आपके परिवार मे कोई भी डायबिटीज है तो आप थोडा सचेत रहे क्योकि अनुवांशिक होने के कारन यह आपको अपने आगोश मे ले सकता है।  मुहल्ले के लोग एवं शिक्षकों को डायबिटीज के बारे मे जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि अगर आपको पता चले कि आप डायबिटीज है तो घबराये नही।  बस किसी डाक्टर के सम्पर्क मे रहे हमेशा वाक करे और समय समय पर सुगर चेक करवाते रहे।संस्था के सचिव पुरूषोत्तम सिंह ने कहा कि अक्सर यह देखा जा रहा है कि बच्चो छात्राओं को डायबिटीज के बारे मे बहुत कम जानकारी होती है।


 आज का यह अभियान छात्राओं शिक्षक एवं मुहल्ले के लोगो के साथ डायबिटीज पर चर्चा कर यह बताने की कोशिश की गई कि आप डायबिटीज के बारे मे समझे डायबिटीज अगर है तो खुलकर बात करे।  कार्यक्रम के दौरान छात्राओं शिक्षक एवं मुहल्ले के लोगो को लेकर पुरे मीठापुर बी एरिया मे बडी रैली निकाली गई जिसमे सभी लोग अपने हाथो मे वाक फार का स्लोगन लेकर लोगो से अपील कर रहे थे कि जीने के लिए दो कदम जरूर चले।  कार्यक्रम को सफल बनाने मे प्राचार्या डा शर्मिला कुमारी,  धनंजय मिश्रा,  धर्मेंद्र कुमार के अलावे क्ई मुहल्ले के लोग शामिल थे।



बिहार दर्पण न्यूज़ एप्स डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें
                            👇🏻👇🏻💯💯👇🏻👇🏻