Headlines
Loading...
शुगर को पुरी तरह से ठीक नही किया जा सकता दवा से केवल कन्ट्रोल कर सकते है।...

शुगर को पुरी तरह से ठीक नही किया जा सकता दवा से केवल कन्ट्रोल कर सकते है।...


 जिस तरह से शूगर के रोगी की संख्या बढ रही है बहुत ही चिन्ता का विषय है। असंयमित जीवन शैली और खान पान हमे डायबिटीज का शिकार बना रहा है। आज कल पुरे भारत मे प्रीडायबिटीज की संख्या लगातार बढ रही है यह ऐसा समय होता है जब लोग थोडी सी आसाबधानी से डायबिटीज के शिकार हो जाते है। इस लिये बहुत जरूरी है कि लोग हमेशा अपनी ब्लड शुगर की जांच कराते रहे। खासकर ठंड के मौसम मे जो डायबिटीज से पीडि़त है उनका शुगर और बी पी अक्सर बढ जाता है कारन है कि इस मौसम मै लोग भोजन खुब करते है और शारिरिक श्रम कम। इस लिये यह जरूरी है कि इस मौसम मे लोग हमेशा चिकित्सक के सम्पर्क मे रहे। शुगर के मरीज को बी पी और कोलेस्ट्रॉल नियंत्रित मे रखना होगा नही तो किडनी, आंख , हर्ट खराब होने का डर रहता है। उक्त बातें आसथा फाऊनडेशन द्वारा चलाए जा घर घर वाक फार लाईफ डायबिटीज जागरूकता अभियान के दौरान गांधी नगर मुहल्ले के पचास ऐ साठ घरो के लोगो को संबोधित करते हुए शहर के मशहूर फिजिशियन डा दिबाकर तैजसबी ने कही। उन्होने लोगो से कहा कि अक्सर ऐसा देखा जाता है कि थोडा सा शुगर नियंत्रित होने पर लोग शुगर की दवा लेना छोड देते है जो बिलकुल गलत है क्योकि यह सभी लोगो को खासकर डायबिटीज से पीडि़त लोगो को समझने की जरूरत है कि शुगर पुरी तरह से ठीक नही किया जा सकता दवा से कंट्रोल कर सकते है। इसलिए जबतक चिकित्सक की सलाह ना हो तो तक हमेशा दवा लेते रहे। संस्था के सचिव पुरूषोत्तम सिंह ने कहा कि लगातार इस मुहिम को घर घर तक पहूँचाने का एक ही मकसद है लोगो को महामारी के रूप में फैल रही बिमारी से आगाह करना। क्योकि आज जिस तरह से सभी उम्र के लोगो को यह अपना शिकार बना रही है बैठी स्थिती मे लोगो को घर घर जाकर बताना कि आप डायबिटीज से बचे बहुत ही जरूरी है जो आसथा फाऊनडेशन लगातार कर रही है। कार्यक्रम को सफल बनाने मे संजय सिंह , अरविन्द सिह, कमलेश जी, ललन सिह, एवं गांधी नगर के क्ई मुहल्ले बासी मौजूद थे।
___________________________________________
बिहार दर्पण न्यूज़ एप्स डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें 

👇🏻👇🏻💯💯👇🏻👇🏻

______________________________________________