Headlines
Loading...
NHAI के बाद अब IOCL ने किया लॉक डाउन का उल्लंघन

NHAI के बाद अब IOCL ने किया लॉक डाउन का उल्लंघन




इस वैश्विक महामारी में भारत के साथ जब पूरी दुनिया लॉक डाउन का रास्ता अपनाकर लोगों को संक्रमण से बचाने की जी तोड़ कोशिश में लगी है ऐसे में भारत के सरकारी कंपनियों द्वारा लॉक डाउन का उल्लंघन बेहद खतरनाक और आपरिधिक गतिविधियों में से एक है।
पहले NHAI ने 23 मार्च को पत्र जारी कर काम चालु रखने के आदेश जारी किये जो मीडिया के हाथ लग गया और मजबूरन उसे काम बन्द करना पड़ा।तो अब देश के नौरत्नों में से एक आई ओ सी एल के एक कॉन्ट्रेक्टर द्वारा लॉक डाउन तोड़ने के मामले सामने आये हैं।दरअसल ट्रेंचलेस कम्पनी को आई ओ सी एल ने पाइप लाइन का काम दे रखा है जो पाइप को मोकामा के हाथीदह से भूमिगत प्रक्रिया के तहत गंगा पार करायेगी।
लॉक डाउन के बाद से इस कंपनी ने 24 घंटे के शिफ्ट में काम जारी रखा है।आगे आई ओ सी एल का और ट्रेंचलेस का बोर्ड भी लगा रखा है।ग्रामीणों ने बताया कि ये कम्पनी इतना ध्वनि प्रदूषण करती है कि गाँव के लोग अचानक रात को जाग जाते हैं ।दर्जनों मजदूरों को काम मे लगाकर ये कम्पनी ना सिर्फ सरकारी नियमों की अनदेखी कर रही है बल्कि संक्रमण के खतरे को और बढ़ा रही है।प्रोजेक्ट इंचार्ज धनंजय कुमार ने बताया कि उन्हें एस डी एम का आदेश मिला है परंतु जब उनसे आदेश की कॉपी माँगी गई तो उन्होंने बात बदलते हुये कहा कि मौखिक आदेश है।यानी आई ओ सी एल जैसी बड़ी कम्पनी की आड़ लेकर ये कम्पनियाँ स्थानीय प्रशासन को भी बदनाम करने में लगी है।ये ना सिर्फ गंभीर चिंताजनक स्थिति है बल्कि आपरिधिक मामला भी है।जब सरकारी कम्पनियाँ ही इस तरह लॉक डाउन के नियमों की अनदेखी करेगी तो फिर आम लोग लॉक डाउन का पालन कैसे करेंगे? ये ग्रामीण क्षेत्र में काम कर रही है और हम आपको बार बार दिखा रहे हैं कि लॉक डाउन ग्रामीण क्षेत्रो में पूरी तरह विफल रहा है! जिसके लिये स्थानीय प्रशासन के साथ ही ऐसी कम्पनियाँ भी जिम्मेदार हैं।

(रिपोर्ट- रवि शंकर शर्मा )
___________________________________________
बिहार दर्पण न्यूज़ एप्स डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें 

👇🏻👇🏻💯💯👇🏻👇🏻

______________________________________________