Headlines
Loading...
लॉकडाउन का गाँव मे असर नही  पुलिस खुद सोशल डिस्टेंसिंग की कर रही अनदेखी!

लॉकडाउन का गाँव मे असर नही पुलिस खुद सोशल डिस्टेंसिंग की कर रही अनदेखी!




पटना जिले के पूर्वी ग्रामीण क्षेत्र के एस पी कांतेश कुमार मिश्र ने कल ही एक तस्वीरें जारी कर सोशल डिस्टेंसिंग का संदेश देते हुये उल्लंघन करने वालों पर कड़ी कार्रवाई की चेतावनी जारी की थी।परंतु शायद उनके मातहत थानाध्यक्षो ने इसे गंभीरता से नही लिया।
पंचमहलाँ थानाध्यक्ष नीरज कुमार के क्षेत्र में जहाँ मनचले खुलेआम घूमते नजर आ रहे हैं वहीं मुखिया मुकेश कुमार द्वारा गंगा से बालू की कटाई लॉक डाउन के बाद भी जारी है। जबकी कल ही बिहार के मुख्य सचिव ने सभी जन प्रतिनिधियों और अधिकारियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये लॉक डाउन के सम्पूर्ण अनुपालन के साथ ही कई आवश्यक दिशा निर्देश जारी किये थे परंतु ग्रामीण क्षेत्रों में किसी भी मुखिया द्वारा निर्देशों का पालन बिल्कुल ही नही किया जा रहा उल्टे लगातार उल्लंघन हो रहा है, ये आनेवाले वक़्त के लिये एक भयावह संदेश है। हमने व्हाट्सएप हेल्पलाइन नंबर जारी किया था जिसपर लोग तस्वीरें लगातार भेज रहे हैं।वहीं मराँची थानाक्षेत्र में भी थाना से चंद कदम पर सड़क किनारे दुर्गास्थान के पास एक झोपड़ी में लोगों का जमावड़ा लगा रहता है तो खुद थाना में पुलिस वाले ही सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन करते पाये गये।वहीं हाथीदह थाना की बात करें तो ऐसा लगता है मानो यहाँ के ग्रामीणों के लिये कोई लॉक डाउन ही नही है। दर्जनों महिलाएँ 3 घण्टे तक मंदिरों में भजन गाती हैं घूमती फिरती हैं तो युवा और बुजुर्ग तक पर लॉक डाउन का कोई असर नही है। मामला इन तीन थानों तक ही सीमित नही है, बल्कि हर गाँव का यही हाल है।आप भी देखिये क्योंकि तस्वीरें झूठ नही बोलती।प्रशासन को अपने वरीय पदाधिकारियों के निर्देश का पालन कर लॉक डाउन को पूरी तरह सुनिश्चित करना चाहियेऔर जनप्रतिनिधियों को भी आवश्यक निर्देशों का पालन करना चाहिये और कोरोना को हल्के में नही लेना चाहिये।वरना ये अनदेखी समाज के लिये बहुत भाड़ी पड़ने वाली है। 

(रिपोर्ट- रवि शंकर शर्मा)
___________________________________________
बिहार दर्पण न्यूज़ एप्स डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें 

👇🏻👇🏻💯💯👇🏻👇🏻

______________________________________________