Headlines
Loading...
लॉक डाउन उल्लंघन मामले में मुंगेर पुलिस की बड़ी करवाई- लिपि सिंह

लॉक डाउन उल्लंघन मामले में मुंगेर पुलिस की बड़ी करवाई- लिपि सिंह





लॉक डाउन उल्लंघन मामले में मुंगेर पुलिस लगातार सख्ती दिखा रही है।
एस पी लिपि सिंह ने मीडिया को बताया कि
मुंगेर जिला में कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव तथा आम नागरिकों की सुरक्षा के लिए लॉकडाउन का अनुपालन सख्ती से कराया गया है। पुलिस का काम लॉकडाउन सुनिश्चित कराना था तथा लोक डॉउन को प्रभावी तौर से लागू कराया गया है। लॉकडाउन का जहां भी लोगों ने उल्लंघन किया है वहां पुलिस के द्वारा कार्रवाई भी की गई है। लॉक डाउन की अवधि में 24 मार्च से अब तक

कुल 1,79,077 ( एक लाख उनासी हजार सात सौ सतहत्तर) गाड़ियों की जांच की गई है।

1537 (पंद्रह सौ सैंतीस) वाहनों पर जुर्माना किया गया है तथा 17,60,450 ( सत्रह लाख साठ हजार चार सौ पचास) रूपए बतौर जुर्माना वसूल किए गए हैं.

345 (तीन सौ पैंतालीस) वाहनों को जप्त कर वाहन मालिकों पर एफआईआर भी किया गया है

मुंगेर जिला में लॉक डाउन उल्लंघन के 31 मामले दर्ज हुए हैं जिनमें 350 लोगों को अभियुक्त बनाया गया है


मुंगेर जिला के जमालपुर का इलाका नया हॉटस्पॉट के तौर पर सामने आया है जहां पर्याप्त संख्या में पुलिस की तैनाती की गई है। 5 किलोमीटर के दायरे को सील कर पुलिस जवानों की तैनाती हुई है। जिला सशस्त्र बल के अलावा बीएमपी, होमगार्ड, रैफ, की तैनाती हुई है। रेल पुलिस जिला जमालपुर से भी रेल पुलिस के जवान और अधिकारियों की प्रतिनियुक्ति की गई है। 

जमालपुर में किसी प्रकार की कोई छूट नहीं दी गई है तथा 12 सौ पुलिस कर्मियों की तैनाती की गई है जिनमें डीएपी, बीएमपी, रैफ, होमगार्ड, जीआरपी शामिल हैं। सासाराम से बीएमपी की महिला बटालियन के 50 जवानों को भी तैनात किया गया है। मुंगेर पुलिस द्वारा 16 क्विक रिस्पांस टीम बनाई गई है। 22 टाइगर मोबाइल का दस्ता लगातार सड़कों पर पेट्रोलिंग में है। ड्रोन सर्विलांस भी किया गया है। सोशल मीडिया की लगातार निगरानी की जा रही है।  हर स्थिति पर हमारी नजर है।

मुंगेर जिला में मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया गया है तथा वरीय पदाधिकारियों के आदेश पर मास्क पहनना हर हाल में जरूरी है। पुलिस की गश्ती गाड़ियां भी माइकिंग के जरिए तथा दूसरे तरीकों से लोगों को मास्क पहनने के लिए प्रेरित कर रही है। जो लोग बिना मास्क के पकड़े जा रहे हैं उन्हें पुलिस द्वारा पहले मास्क दिया जा रहा है तथा उन्हें हमेशा मास्क लगाने की कड़ी हिदायत भी दी जा रही है।

 इसके अलावा सबसे महत्वपूर्ण बात है कि जमालपुर में हर घर में सर्वेक्षण का काम स्वास्थ्य विभाग द्वारा किया जा रहा है। आशा की कार्यकर्ताएं,  स्वास्थ्य विभाग कर्मी घर-घर जाकर सर्वेक्षण कार्य कर रहे हैं। आम जनता से अपील है कि स्वास्थ्य कर्मियों को सहयोग करें तथा उनके द्वारा मांगी गई हर जानकारियों को मुहैया कराएं। यदि स्वास्थ्य कर्मियों के साथ लोग सहयोग नहीं करेंगे और उनके साथ किसी प्रकार की कोई बेअदबी की जाएगी तो इसे किसी सूरत में स्वीकार नहीं किया जाएगा तथा कठोर कार्रवाई की जाएगी।

 जमालपुर इलाके में कल भी पुलिस ने फ्लैग मार्च किया था तथा माइकिंग के जरिए लोगों को लॉक डाउन के बारे में समझाया गया था।

 स्वास्थ्य विभाग और पुलिस प्रशासन मिलकर इस संकट की घड़ी में लोगों की सेवा के लिए खड़े हैं तथा आम लोगों का भी दायित्व है कि वे स्वास्थ्य कर्मियों और पुलिसकर्मियों के साथ सहयोग करें।

जमालपुर में हॉटस्पॉट एरिया में जमालपुर थाना के सहयोग के लिए एक अतिरिक्त पुलिस पदाधिकारी को प्रतिनियुक्त किया गया है। संग्रामपुर थानाध्यक्ष को हॉटस्पॉट एरिया में संदिग्ध लोगों की पहचान करने तथा उन्हें मेडिकल टीम और जिला प्रशासन की टीम के साथ मिलकर क्वॉरेंटाइन कराने की जिम्मेवारी दी गई है। स्पेशल इंटेलिजेंस यूनिट को भी इस काम में लगाया गया है जो जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के साथ सहयोग कर लोगों को कारंटाइंड करा रही है।



रिपोर्ट- रवि शंकर शर्मा