Headlines
Loading...
सोमवार को हुये हिंसक झड़प के बाद अधिकारियों का जबरदस्त दौरा!

सोमवार को हुये हिंसक झड़प के बाद अधिकारियों का जबरदस्त दौरा!



मोकामा के हाथीदह से नालंदा होते हुये गया तक गंगा जल ले जाये जाने वाली नीतीश सरकार की महत्वाकांक्षी गंगा उद्भव परियोजना के निर्माणस्थल पर सोमवार को हुये हिंसक झड़प के बाद DCLR श्री कलीमुद्दीन अहमद, एस डी पी ओ संजय कुमार , सी ओ रामप्रवेश राम, बी डी ओ संजय कुमार राय सहित हाथीदह और मराँची थाना की संयुक्त पुलिस बल घटनास्थल पर जायजा लेने पहुँची।
उल्लेखनीय है कि सोमवार को ठेकेदारी विवाद में आपसी वर्चस्व को लेकर दो गुटों में हुये हिंसक झड़प में सात व्यक्ति घायल हो गये थे जिसके उपरांत अधिकारियों ने जायजा लिया और प्रोजेक्ट के पूरा होने तक निर्माणस्थल पर एक पुलिस पिकेट स्थापित करने के निर्देश दे दिये गये हैं।
गौरतलब है कि इस झड़प को नियंत्रित करने में मराँची थानाध्यक्ष की घोर लापरवाही सामने आई है। उक्त घटना के दौरान थानाध्यक्ष अनिल कुमार को ग्रामीण फोन करते रहे परन्तु उन्होंने किसी का फोन नही उठाया यहाँ तक कि मीडियाकर्मियों का फोन भी नही उठाया और इस बीच 7 लोग हिंसक झड़प में घायल हो गये। 300 गज की दूरी तय करने में पुलिस को एक घण्टा लग गया जिस वजह से  विवाद ने हिंसक रूप अख्तियार कर लिया। 
वहीं  इस प्रोजेक्ट के निर्माण में लगी कंपनी मेघा इंजीनियरिंग एंड इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड के सीनियर मैनेजर शिव शक्ति धारी सिन्हा ने स्पष्ट किया कि एक ही पक्ष को वर्क आर्डर मिला है वो भी सिर्फ बैचिंग प्लांट बनाने का। जबकी कल दोनो पक्ष ये दावा कर रहे थे कि दोनों के पास वर्क आर्डर है। 
(रिपोर्ट- रवि शंकर शर्मा)