Headlines
Loading...
राशन कार्ड धारियों के खाते में भेजे गए तिरेसठ करोड़ तीस लाख की राशी

राशन कार्ड धारियों के खाते में भेजे गए तिरेसठ करोड़ तीस लाख की राशी





 मुजप्फरपुर जिलाधिकारी डॉ०चंद्रशेखर सिंह की अध्यक्षता में समाहरणालय स्थित सभाकक्ष में आज राशन कार्ड एवं खाद्यान्न वितरण की समीक्षा की गई।बैठक में अपर समाहर्ता राजेश कुमार, अनुमंडल पदाधिकारी पूर्वी कुंदन कुमार, अनुमंडल पदाधिकारी पश्चिमी अनिल कुमार दास, जिला आपूर्ति पदाधिकारी महमूद आलम एवं अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।बैठक में बताया गया कि  जिले के 637000 राशन कार्डधारी लाभुकों के खाते में एक-एक हजार की राशि सफलतापूर्वक भेजी जा चुकी है। 43406 लाभुकों का आधार और बैंक खाता का सीडिंग नहीं होने तथा आधार कार्ड और राशन कार्ड में नाम में अंतर होने के कारण  अस्वीकृत कर दिया गया है जिसकी सूची आज ही विभाग से प्राप्त हुई है

 ।इस संबंध में दोनों अनुमंडल पदाधिकारी को निर्देश दिया गया है कि 3 दिन के अंदर लाभुक से संपर्क कर आधार सीडिंग का कार्य कराना सुनिश्चित करें साथ ही निर्देशित किया गया कि राशन कार्ड और आधार कार्ड के नाम में जो  त्रुटियां परिलक्षित  हुई हैं उसका निराकरण भी 3 दिन के अंदर कराना सुनिश्चित करें । 124000 ऐसे पुराने राशन कार्डधारी हैं जिनका आधार नंबर और बैंक खाता अभी तक उपलब्ध नहीं हो सका है। निर्देश दिया गया कि उनका भी घर-घर सत्यापन कराकर रविवार तक आधार नंबर और बैंक खाता का इंट्री कराना सुनिश्चित करें ।जिनका आधार नंबर और बैंक खाता प्राप्त नही हो पाता है उन्हें अंतिम रूप से अस्वीकृत कर दिया जाएगा।  इस तरह बचे हुए 167000 लाभुकों से संबंधित जो तकनीकी गड़बड़ियां है उसका निराकरण 1 सप्ताह के अंदर करने का निर्देश दिया गया ताकि राज्य स्तर से पात्र  लाभुकों के खाते में ₹1000 भेजा जा सके। वही राशन कार्ड से वंचित गरीब परिवार जिनके पास ना तो राशन कार्ड है और ना ही पूर्व में उन्होंने इस संबंध में कोई आवेदन दिया है

 उनका सर्वेक्षण का कार्य चल रहा है। ग्रामीण क्षेत्रों में जीविका द्वारा सर्वेक्षण कराया जा रहा है वहीं शहरी क्षेत्रों में संबंधित नगर निकायों के द्वारा सर्वेक्षण किया जा रहा है। जीविका के द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में अभी तक ऐसे 36000 परिवारों को चिन्हित किया जा चुका है। निर्देश  दिया गया कि शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में वैसे सभी लोगों का सर्वेक्षण का कार्य कल शाम तक पूर्ण कर लिया जाए। तत्पश्चात 3 दिनों के अंदर डुप्लीकेसी की जांच एवं तदोपरांत पोर्टल पर इंट्री कराने तथा उनकी सूची राज सरकार को भेजने का निर्देश दिया गया ताकि उनके खाते में राज स्तर से ₹1000 की राशि भेजी जा सके। बैठक में बताया गया कि आरटीपीएस पर अस्वीकृत आवेदनों की पुनः समीक्षा की गई। इसमें 105635 आवेदनों को स्वीकृत किया गया ।इनमें से 45000 का आधार और बैंक खाता का इंट्री करा दिया गया है ।शेष को दो दिन के अंदर इंट्री कराने का निर्देश दिया गया है ताकि सरकार द्वारा इनके खाते में ₹1000 रुपया सफलतापूर्वक भेजा जा सके

रिपोर्टर नेहा कुमारी