Headlines
Loading...
लॉकडाउन में गरीबो का सहारा बने श्री साई सेवा दरबार के सदस्य, 11 दिनों से बांट रहे खाना

लॉकडाउन में गरीबो का सहारा बने श्री साई सेवा दरबार के सदस्य, 11 दिनों से बांट रहे खाना



21 दिन तक चलने वाले लॉकडाउन का सबसे अधिक असर गरीबों और बेसहारों पर पड़ा है। ऑटो चालक, दिहाड़ी मजदूर, रिक्शा-ठेला चलाने वाले लोगों के सामने भूखे रहने की नौबत आ गई है। ऐसे में श्री साई सेवा दरबार के सदस्य उनकी मदद के लिए आगे आए हैं।


साई सेवा दरबारी के सदस्य बबलू प्रकाश ने बताया कि कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर पटना में लॉकडाउन है। जिसके कारण रोज कमाने खाने वाले लोग बड़ी संख्या में प्रभावित हुए हैं। उनकी जीविका छीन गई है। खाने की संकट हो गया है। ऐसे में श्री साई सेवा दरबार पिछले ग्यारह दिनों से राज पैलेस बैंकेट हॉल, लोहार लेन, मुसल्लाहपुर हाट में कम्युनिटी किचन चला रहा है। जहाँ रोज पूड़ी सब्जी कभी पूड़ी भुजिया बनाया जाता हैं और उसे पैकेट में बंद कर गरीबों के बीच वितरित किया जाता हैं और 400 पैकेट के आसपास कदमकुआं, पीरबहोर, कंकड़बाग और मछुआटोली पुलिस चेक पोस्ट पर जाकर पहुंचाते हैं। थाना के पेट्रोलिंग अधिकारी उसे पैकेट बंद खाना को गरीबों के बीच बाँट देते हैं। 


साई सेवा के सदस्य आदि मेहता एवं सुयश ज्योति उर्फ राजा ने बताया कि कम्युनिटी किचन आपसी सहयोग एवं सभ्यभ्रांत लोगो के दिए कच्चा अनाज, तेल, आलू, प्याज नगद दिए हुए दान से चल रहा है। सतीश गुप्ता, संतोष चौधरी, रवि मेहता, मिथलेश कुमार, जितेंद्र कुमार, रवि बॉक्सर, सन्नि कुमार, विष्णुकांत शर्मा, धर्मेंद्र विश्वकर्मा लगातार दिनरात सेवा में लगे हैं।