Headlines
Loading...
निजी स्कूलों ने शिक्षा मंत्री से मांगीं आरटीई की पिछले तीन सत्रों की लंबित राशि।

निजी स्कूलों ने शिक्षा मंत्री से मांगीं आरटीई की पिछले तीन सत्रों की लंबित राशि।


 
धीरज झा
प्राइवेट स्कूल्स एंड चिल्ड्रेन वेलफेयर एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष शमायल अहमद ने मंगलवार को प्रदेश के शिक्षामंत्री को एक पत्र लिख कर सत्र 2017-18,2018-19 एवं 2019-20 में आरटीई के अंतर्गत लाभान्वित बच्चे की लंबित राशि निर्गत करने का आग्रह किया है।
शमायल अहमद ने शिक्षा मंत्री को पत्र द्वारा अवगत कराया की पिछले 5 माह से स्कूल की फीस नहीं आ रही है। क्योंकि जनवरी-फरवरी में राज्य के सभी सरकारी एवं निजी विद्यालय कड़ाके की ठंड की वजह से बंद थे। मार्च महीने से कोविड-19 के कारण अभी तक विद्यालय लगातार बंद हैं। इसके कारण स्कूलों को फीस नहीं आ रही है और आगे भी एक-दो महीने आने की संभावना नहीं है।जिसके कारण बिहार के हजारों निजी विद्यालय बंद होने के कगार पर हैं।ऐसी परिस्थिति में निजी विद्यालय अपने यहां कार्यरत 5 लाख से ज्यादा कर्मियों को वेतन नहीं दे पाएंगे और उनके परिवारों को काफी कठिनाइयां आएंगी।

शमायल अहमद ने शिक्षा मंत्री से आग्रह किया है के निजी विद्यालयों के बिजली बिल,वाहन टैक्स,बिल्डिंग टैक्स एवं वाहनों के ऋण की किश्त को माफ करने का आदेश जारी करे, ताकि विद्यालय बंद न हो सके।अन्यथा लाखों बच्चे शिक्षा से वंचित हो जाएंगे एवं लाखों कर्मी बेरोजगार हो जाएंगे।