Headlines
Loading...
अभी भी जागरुकता की कमी है:-सूर्य कान्त गुप्ता।।

अभी भी जागरुकता की कमी है:-सूर्य कान्त गुप्ता।।

अभी भी जागरुकता की कमी है:-सूर्य कान्त गुप्ता

पटना सिटी
गजेंद्र सिंह
विद्यालय संसाधन केन्द्र, मध्य विद्यालय रमना, गुलजारबाग, पटना से संबद्ध विद्यालय के पोषक क्षेत्र ईदगाह रोड, माखनपुर मुहल्ला में कोरोना पॉजिटिव मरीज आशा देवी की मौत होने के उपरांत संकुलाधीन सरकारी एवं निजी विद्यालयों के प्रधानाध्यापकों एवं शिक्षकों की ऑनलाईन आपात बैठक विद्यालय समन्वयक सूर्य कान्त गुप्ता के द्वारा आयोजित की गई। आपात बैठक में उपस्थित सभी शिक्षकों से डी. बी. टी. में दिये गये छात्र-छात्राओं के मोबाइल नंबर पर तत्काल संपर्क कर कोरोना से बचाव हेतु किये जाने वाले उपायों एवं बरती जाने वाली सावधानियों को बताने हेतु कहा गया। उनके माता पिता एवं अविभावकों को भी कोरोना से बचाव हेतु जानकारी प्रदान करने को कहा गया।   श्री गुप्ता ने कहा कि कोरोना आपके मुहल्ले मे दस्तक देकर एक को मौत के मुँह में ढकेल चुका है। अब कोई भी खतरा लेना कोरोना को आपके घर में पहुंचा सकता है। सभी बच्चे , उनके माता पिता एवं अविभावकों सहित परिवार के सभी सदस्यों को सामाजिक दूरी बना लेना अति आवश्यक है। अपने आपको घर में कैद कर लेना जरूरी है। कोरोना का कोई भी लक्षण जैसे सर्दी, सूखी खॉसी, सॉस लेने में तकलीफ महसूस करना, तेज बुखार रहने पर तुरंत एन एम सी एच में संपर्क करेंगे। अभी भी जागरुकता की कमी है, अतः शिक्षक ही उन्हें जागरुक कर सकते हैं, क्योंकि बच्चे शिक्षक को ही अपना आदर्श मानते हैं और उनके कथन का अक्षरशः पालन करते हैं। इससे शिक्षकों की भूमिका अभी के हालात में काफी बढ़ गयी है। ऑनलाईन आपात बैठक में मंजू कुमारी, वीणा सिन्हा, ममता सिन्हा, भारत भूषण प्रसाद, सरिता कु अम्बष्ट, कनीज फातमा, रवि शंकर प्रीत, नागेन्द्र कुमार पांडेय उर्फ बबलू जी, रंजन कुमार, विनय सर, पुष्पांजलि सिन्हा  सहित मध्य विद्यालय रमना, न्यू मॉडल संतपाल जूनियर मध्य विद्यालय गुलजारबाग, मध्य विद्यालय नौजरकटरा, प्राथमिक विद्यालय तुलसी मंडी, प्राथमिक विद्यालय नया गॉव मुसल्लहपुर, उर्दू प्राथमिक विद्यालय गुजरी, आर के पब्लिक स्कूल, इंडियन पब्लिक स्कूल बेलवरगंज, सेंट जॉन पब्लिक स्कूल गुलजारबाग हाट, ब्राईट वे पब्लिक स्कूल, भारत एकेडेमी चैलीटाल, विनय विद्या निकेतन काजीबाग सहित क्षेत्राधीन अन्य विद्यालयों के शिक्षकों ने भाग लिया।