Headlines
Loading...
बिहार की सबसे बड़ी दवा मंडी गोविंद मित्रा रोड 3 दिनों के लिए बंद, बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए लिया गया निर्णय ।

बिहार की सबसे बड़ी दवा मंडी गोविंद मित्रा रोड 3 दिनों के लिए बंद, बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए लिया गया निर्णय ।

बिहार की सबसे बड़ी दवा मंडी गोविंद मित्रा रोड 3 दिनों के लिए बंद, बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए लिया गया निर्णय ।


धीरज झा
पटना : कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप से अब राज्य के थोक दवा विक्रेताओं के प्रमुख मंडी गोविंद मित्रा रोड भी प्रभावित हो गया है।
 ज्ञात हो कि यहां के दवा व्यवसायी मेसर्स नयू  मां भवानी फार्मा के संचालक कोरोना से संक्रमित पाये गए हैं । इसके साथ ही फार्मा दवा कंपनी मैसर्स भारत सेरम के प्रतिनिधि का देहांत भी कोरोना से हो चुका है जिनका  गोविंद मित्रा रोड के कई दवा दुकानदारों के यहां आना जाना हुआ है । जिससे स्थानीय दवा विक्रेताओं एवं उनके कार्यरत कर्मचारियों में गोविंद मित्रा रोड में आकर काम करने में भय लगने लगा है । उपरोक्त परिस्थितियों को देखते हुए आज पटना केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएशन के पदाधिकारियों के साथ आक्समिक बैठक की गई है । जिसमें निर्णय लिया गया है कि पूरे गोविंद मित्रा रोड के मंडी को केमिस्ट संगठन के द्वारा अपने स्तर से सैनिटाइज करने का काम किया जाएगा जिसके लिए केवल गोविंद मित्रा रोड स्थित सभी दवा दुकानों को दिनांक 30 जून से 2 जुलाई यानि लगातार तीन दिनों तक बंद रखा जाएगा ।

केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष प्रसन्न कुमार ने कहा की पीड़ित जनों को असुविधा ना हो इसके लिए जीवन रक्षक दवाओं की उपलब्धता जारी रखने के लिए जरूरत पड़ने पर बंदी के दौरान भी संगठन के द्वारा दवाओं की आपूर्ति करवाने की व्यवस्था की जाएगी । उन्होंने प्रशासन से मांग करते हुए कहा कि गोविंद मित्रा रोड में केवल दबाओ के मालवाहक गाड़ी को सुबह 10:00 बजे से 2:00 बजे तक ही प्रवेश करने दिया जाए जबकि वापसी के लिए समय निर्धारित नहीं हो । उन्होंने कहा कि अन्य किसी भी प्रकार के वाहन को गोविंद मित्रा रोड में 10:00 बजे दिन से संध्या 7:00 बजे तक के लिए प्रवेश को पूर्णरूपेण बंद कर दिया जाए । पूरे मंडी को सप्ताह में कम से कम एक बार सरकारी व्यवस्था के अंतर्गत कोरोना  काल तक सेनीटाइज करने की व्यवस्था की जाए । उन्होंने कहा कि गोविंद मित्रा रोड से फुटकर, ठेला, खोमचा, दुकानों को हटाया जाए।

गौरतलब है कि पटना में कोरोना का संक्रमण तेजी से बढ़ता जा रहा है । आज पहली बार एक साथ पटना में 86 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं । पटना में पहली बार एक साथ इतनी बड़ी संख्या में कोरोना संक्रमित पाए गए हैं जिसके बाद अब पटना में कोरोना संक्रमितों  की संख्या बढ़कर 643 हो गई है । वही इतनी बड़ी संख्या में संक्रमित के मिलने के बाद हड़कंप मच गया है। इसमें से ज्यादातर पटना के पालीगंज से मिले हैं।