Headlines
Loading...
योग करें संक्रमण से बचें   ।।

योग करें संक्रमण से बचें ।।



अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर परम पूज्य राज ऋषि आचार्य श्री सुदर्शन जी महाराज ने एक संदेश में कहा है कि नियमित योग करो और आज के संक्रमण से बचो । योग से शरीर में प्रतिरोधक क्षमता आश्चर्यजनक ढंग से बढ़ती है l हमारे शरीर में परमात्मा ने सभी प्रकार की बीमारियों से लड़ने की क्षमता दी है l जब हम अपने खान -पान , आहार-व्यवहार से अपनी प्रतिरोधक क्षमता को कमजोर कर देते हैं तो शरीर में विभिन्न प्रकार की बीमारियां उत्पन्न हो जाती हैं l कहते हैं  शरीरं व्याधिम गृहम इसलिए योग जीने के लिए उतना ही आवश्यक है जितना कि हमारा भोजन ।आचार्य श्री ने कहा कि हमारा शरीर शाकाहारी है l प्राचीन काल में संत महात्मा साग , सब्जी, फल ,फूल खाकर सैकड़ों वर्षो तक स्वस्थ जीवन जीते थे l प्रभु श्री राम ने भी 14 वर्षों तक केवल फल- फूल खाकर ही वनवास में समय बिताया था l हमारा शरीर आसानी से फल फूल और शाकाहारी भोजन को पचा पाता है l मनुष्य मांसाहारी जीव नहीं है और ना किसी प्रकार की नशा को पसंद करता है l साथ ही शरीर की प्रकृति ऐसी है कि जब कभी शरीर के रक्त में विकार उत्पन्न होता है तो उसे हल्का व्यायाम के द्वारा शरीर से बाहर निकाल दिया जाता है l इसलिए जीवन रक्षा के लिए जितना भोजन आवश्यक है उतना ही रक्त की विकृति निकालने के लिए व्यायाम आवश्यक है l गलत भोजन से जब रक्त में विकृति बढ़ने लगती है तो रक्त का जो अपना नेगेटिव स्वभाव है वह पॉजिटिव होने लगता है और तभी कोराना जैसे वायरस को बढ़ने का मौका मिलता है l  आचार्य श्री ने कहा कि शरीर में बीमारी तब पैदा होती है जब शरीर बीमारी से लड़ने में असमर्थ हो जाता है और यह तभी होता है जब मनुष्य शाकाहारी भोजन और शुद्ध पानी को छोड़कर आपत्तिजनक सड़ा- गला पदार्थ का सेवन करने लगता है l मैंने स्वयं अनुभव किया है कि जो लोग शाकाहारी भोजन करते हैं व्यायाम करते हैं वे 100 वर्षों तक आसानी से जी पाते हैं l मैं स्वयं पिछले 85 वर्षों से शाकाहारी भोजन और व्यायाम करता रहा हूं l कम से कम आप भी तो ऐसा भोजन और व्यायाम करके यहां तक तो आ ही सकते हैं l आगे के वर्षों की गारंटी कोई नहीं लेता l अगर आप जीना चाहते हैं तो आज से ही शाकाहारी भोजन और व्यायाम का संकल्प लें और 100 वर्षों तक जीने की प्रतिज्ञा करें l