Headlines
Loading...
जमुई की प्रीति बाला की मौत को लेकर अनवरत आंदोलन, परिजनों ने पुष्पांजलि अस्पताल के प्रबंधन के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराया।

जमुई की प्रीति बाला की मौत को लेकर अनवरत आंदोलन, परिजनों ने पुष्पांजलि अस्पताल के प्रबंधन के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराया।

*(बिहार) : जमुई की प्रीति बाला की मौत को लेकर अनवरत आंदोलन, परिजनों ने पुष्पांजलि अस्पताल के प्रबंधन के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराया।


धीरज झा की रिपोर्ट
जमुई : पुष्पांजलि अस्पताल में इलाजरत प्रीति बाला की मौत पर अस्पताल के विरोध में मामला और गंभीर होता जा रहा है। युवाओं ने जिले के सभी प्रखंडों में कैंडल मार्च निकाला और आज महीसोरी चौक पर काला बिल्ला लगाकर सोनू रावत के नेतृत्व में युवाओं ने अस्पताल प्रबंधन पर कठोर कार्रवाई को लेकर गगनभेदी नारे लगाते हुए अस्पताल के डॉक्टर प्रीतम कुमार, डॉ आलम एवं प्रबंधक पप्पू कुमार पर कठोर कार्रवाई की मांग कर रहे थे। कार्यक्रम का नेतृत्व कर रहे सोनू रावत ने बताया कि प्रीति बाला की मौत के दोषी को जब तक सजा नहीं मिल जाती तब तक यह आंदोलन अनवरत जारी रहेगा।
ज्ञात हो की बहन प्रीति वाला को डिलीवरी के लिए 13 जुलाई को शहर के पुष्पांजलि अस्पताल में भर्ती कराया गया था जब प्रीति की हालत बिगड़ने लगी तो उसे अस्पताल 17 जुलाई को पटना रेफर कर दिया गया, जहां इलाज के दौरान पटना के मैक्स अस्पताल में 18 जुलाई को उसकी मौत हो गई । मृतक के भाई विवेक कुमार ने डॉक्टर की लापरवाही का आरोप लगाते हुए कई संगीन मामला अस्पताल प्रबंधन पर लगाकर प्राथमिकी दर्ज कराया है। विरोध प्रदर्शन में मुख्य रूप से कृष्णा प्रसाद राव अमित सिंह, शंकर विश्वकर्मा, शेखर, मोहन, सुनील, रंजीत सहित दर्जनों लोग उपस्थित थे।