Headlines
Loading...
सड़क निर्माण कार्य में अनियमितता के कारण बनने के साथ ही हुई क्षतिग्रस्त।।

सड़क निर्माण कार्य में अनियमितता के कारण बनने के साथ ही हुई क्षतिग्रस्त।।

सड़क निर्माण कार्य में अनियमितता के कारण बनने के साथ ही हुई क्षतिग्रस्त
सड़क की जांच कर पुनः निर्माण नही कराया गया तो ग्रामीण करेंगे धरना प्रदर्शन*





धीरज झा
रोहतास जिले के करगहर प्रखंड क्षेत्र के रतिचक गांव में 15 दिन पूर्व प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना से करीब 89 लाख रुपये की लागत से सड़क का निर्माण हुआ, लेकिन सड़क बनने के महज 15 दिन बाद ही सड़क उखड़ने लगा। सड़क निर्माण में बरती गई अनियमितता को देख ग्रामीणों में आक्रोश है। वहीं ग्रामीणों की माने तो लंबे संघर्ष के बाद रतिचक मोड़ से रतिचक गांव तक प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत सड़क निर्माण की स्वीकृति मिली। उसके बाद सड़क बनाने के लिए निविदा निकाली गई और सात माह पूर्व सड़क निर्माण के लिए शिलान्यास जदयू विधायक वशिष्ठ सिंह ने किया था। जबकि अभी सड़क निर्माण का कार्य अवधि दसवें महीने तक है। लेकिन संवेदक के द्वारा समय से पहले ही काम फाइनल कर दिया गया है। जबकि इस सड़क का प्राक्कलन 17 अक्टूबर तक का है। जिसमें गाँव के करीब पीसीसी ढलाई एवं गांव के बाहरी छोर को कालीकरण किया गया है।  ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि सड़क निर्माण कंपनी और ग्रामीण विकास विभाग के अधिकारियों की मिलीभगत से अनियमितता बरती गई है। जो सड़क बनने के साथ ही उखड़ गई। गांव में चल रही विकास योजनाओं की निगरानी करने वाला कोई नहीं। ग्रामीणों की शिकायत पर कार्रवाई अधिकारियों द्वारा नहीं की जाती है। ग्रामीणों ने कहा कि यदि विभाग द्वारा सड़क की जांच कर पुन: निर्माण नहीं कराया जाता तो धरना प्रदर्शन किया जाएगा।