Headlines
Loading...
आदर्श जनता दल ने राज्यभर में बढ़ते कोरोना मरीजों व अपर्याप्त संक्रमण की जांच को लेकर गहरी चिंता व्यक्त की।।

आदर्श जनता दल ने राज्यभर में बढ़ते कोरोना मरीजों व अपर्याप्त संक्रमण की जांच को लेकर गहरी चिंता व्यक्त की।।

आदर्श जनता दल ने राज्यभर में बढ़ते कोरोना मरीजों व अपर्याप्त संक्रमण की जांच को लेकर गहरी चिंता व्यक्त की।।
गजेंद्र सिंह

पटना : आदर्श जनता दल राज्य भर में बढ़ते कोरोना मरीजों और अपर्याप्त कोरोना संक्रमण की जांच पर गहरी चिंता व्यक्त की है और राज्य सरकार से राज्य के   प्रत्येक जिला में शीघ्रातिशीघ्र संबंधित कोरोना मरीजों की जांच की पर्याप्त व्यवस्था सुनिश्चित करने की मांग की है।
प्रेस को जारी एक बयान में आदर्श जनता दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष नितेश कुमार ने कहा है कि राज्य में नये कोरोना पाॅजीटिव मरीजों की संख्या एक दिन में 900 से अधिक पार कर जा रही है। राज्य स्वास्थ्य विभाग के अनुसार राज्य में कोरोना से संभावित लोगो की संख्या बढ़ कर 23 हजार हो गयी है। संपूर्ण राज्य में बड़े पैमाने पर प्रशासनिक अधिकारी, कर्मचारी, पुलिस एवं पुलिस अधिकारी, डाक्टर, नर्स और अन्य सफाईकर्मियों के साथ-साथ सत्ताधारी एवं अन्य राजनीतिक दलों के नेता एवं कार्यकर्ता कोरोना संक्रमण के शिकार हो रहें  है।
पटना एम्स में कल एक दिन में 6 डाक्टर समेत 32 चिकित्साकर्मी कोरोना पॉजीटिव हो गये। कोरोना महामारी का फैलाव तेजी से बढ़ रहा है। राज्य सरकार सिर्फ भाषणबाजी कर रही है। लोगों को अच्छी-अच्छी बातें कहकर उन्हें मंत्रमुग्ध एवं आश्वस्त कर रही है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार प्रत्येक दिन 20 हजार लोगों की जांच की बात कर रहे हैं लेकिन राज्यभर में बड़े पैमाने पर कोरोना के संभावित मरीज जांच के लिए अस्तपालों में घंटों इन्तजार के बाद निराश होकर दूसरे दिन का आस लगाए वापस हो जा रहे हैं।
नितेश कुमार ने कहा है कि संपूर्ण राज्य में स्वास्थ्य व्यवस्था में शीघ्रातिशिघ्र अपेक्षित बदलाव की जरूरत है। अगर समय रहते संभावित मरीजों की पर्याप्त जांच की व्यवस्था नहीं की गयी तो यह कोरोना महामारी बिहार को अपने आगोश में ले लेगी तथा देश भर में प्रथम स्थान पर ले जाने में अधिक देरी नहीं लगायेगी।  आदर्श जनता दल  कोरोना महामारी के बढ़ते कदम को रोकने के लिए संपूर्ण राज्य में मौजूदा सरकारी स्वास्थ्य संसाधनों के बेहतर इस्तेमाल की गारंटी करने की मांग की है। जरूरत के अनुसार आवश्यक सामग्रियों, कोरोना महामारी से संघर्षरत प्रशासनिक अधिकारी, कर्मचारी, पुलिस एवं अधिकारी, डाक्टर, नर्स, स्वास्थ्यकर्मी एवं सफाईकर्मियों को कोरोना महामारी से बचाने के लिए सुरक्षा एवं समूचित व्यवस्था प्रदान करने, आमलोगों के जांच के लिए समुचित व्यवस्था करने तथा स्वास्थ्य केन्द्रों में बेहतर सुविधा प्रदान करने की मांग की है।