Headlines
Loading...
बांध के नाम पर करोड़ो अरबों का होता है घोटाला,उच्च न्यायालय के चीफ जस्टिस से कराई जाए जांच- पप्पू यादव।।

बांध के नाम पर करोड़ो अरबों का होता है घोटाला,उच्च न्यायालय के चीफ जस्टिस से कराई जाए जांच- पप्पू यादव।।

बांध के नाम पर करोड़ो अरबों का होता है घोटाला,उच्च न्यायालय के चीफ जस्टिस से कराई जाए जांच- पप्पू यादव।।



धीरज झा
गोपालगंज : बिहार में इन दिनों राजनीति का केंद्र बना गोपालगंज का सत्तर घाट पुल के अप्रोच पुल एवं सड़क के ध्वस्त मामले की जानकारी लेने जन अधिकार पार्टी के प्रमुख पप्पू यादव गोपालगंज के बैकुंठपुर स्थित सत्तर घाट पहुंचे। जहां उन्होंने घटना स्थल पर जाकर लोगो से स्थिति की जानकारी ली। जिसके बाद पत्रकारों से मुखातिब होते हुए उन्होंने कहा कि बिहार के विभिन्न नदियों पर बने बांध की मरम्मती के नाम पर जब बरसात आती है तो अरबों खरबों की लूट मचती है। उन्होंने कहा कि हर साल सरकार कहती है कि इस बार बांध नहीं टूटेगा परंतु हर साल 8 से 10 जगहों पर बांध टूटती है और उसके नाम पर करोड़ो अरबो  का घोटाला किया जाता है। उन्होंने कहा कि बिहार के किसी उच्च न्यायालय के चीफ जस्टिस से इसकी जांच कराई जाए कि बिहार की जनता का पैसा करोड़ों अरबो रुपया पानी में कहां चला गया। उन्होंने कहा कि बाढ़ के समय लोगों को मरने के लिए छोड़ सारे नेता गायब हैं। तथा बाढ़ में फंसे लोगों के पास राशन है कि नहीं दवा है कि नहीं सांप कटी की दवा है कि नहीं इसका फिक्र लेने वाला कोई नहीं है। कोरोना वायरस का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि साढ़े आठ हजार करोड़ रुपया सरकार का कहना है कि खर्च हो गया। परंतु गांव में लोगो तक मास्क एवं साबुन इत्यादि पहुंचा कि नहीं स्वास्थ्य विभाग में दवा है कि नहीं इसकी पूछ लेने वाला कोई नहीं है। उन्होंने कहा कि पहले नदियां वरदान हुआ करती थी परंतु सरकार की गलत नीतियों के वजह से अब ये अभिशाप हो गई हैं। हर साल गरीबी एवं बीमारी का मुख्य कारण बाढ़ होता जा रहा है।