Headlines
Loading...
बेटी चढ़ी दहेज के बली, ससुराल वालों ने जिंदा जलाया, इलाज के दौरान हुई मौत।।

बेटी चढ़ी दहेज के बली, ससुराल वालों ने जिंदा जलाया, इलाज के दौरान हुई मौत।।

बेटी चढ़ी दहेज के बली, ससुराल वालों ने जिंदा जलाया, इलाज के दौरान हुई मौत।

धीरज झा
सिवान से एक बड़ी खबर सामने आई है जहां एक बेटी दहेज़ की बलि चढ़ गई है। दहेज़ के लिए ससुराल वालों ने उसे ज़िंदा जला दिया है। घटना बसंतपुर थाना क्षेत्र के राजापुर गांव की है। जहां दहेज़ के लिए एक बेटी को जिंदा जला दिया गया है। जहां इलाज़ के दौरान उसकी मौत हो गई।
बता दें कि सारण जिला के मांझी थाना क्षेत्र स्थित जैतीया गांव निवासी स्व. गया प्रसाद की पुत्री प्रमिल देवी की शादी बसंतपुर थाना क्षेत्र के राजापुर निवासी रघुवीर सिंह के पुत्र पवन सिंह से 2017 में हुई थी। मृतक की मां के अनुसार शादी के बाद से ससुराल पक्ष के लोगों के द्वारा 3 लाख रुपये नकद और एक अपाची बाइक की मांग की जा रही थी, नही देने पर जान से मारने की धमकी भी दी जा रही थी। मृतक की मां ने बताया कि वे अपने पुत्र के साथ झांसी रहती है। 11 जुलाई को उन्हें सूचना मिली कि उनके पुत्री को ससुराल वालों ने ज़िंदा जला दिया हैं। सूचना मिलने के बाद वो जब बसंतपुर थाना क्षेत्र के राजापुर गांव पहुंची तो ग्रामीणों से पता चला कि उनकी पुत्री गंभीर रूप से जल चुकी है और उसे इलाज़ के लिए अस्पताल में भर्ती किया गया हैं। इलाज़ के क्रम में आज प्रमिला की मौत हो गयी। मृतक की मां ने दामाद पवन सिंह, उसके पिता, माता, भाई समेत 6 लोगों को नामजद करते हुए एफआईआर दर्ज की है और न्याय की गुहार लगा रही हैं।
अब देखना है बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा देने वाली सरकार दहेज़ के लिए जिंदा जला दी गयी बेटी को इंसाफ दिलाती है या नही।