Headlines
Loading...
सासाराम हुआ पानी-पानी,शहर हुआ तलाब में तब्दील।।

सासाराम हुआ पानी-पानी,शहर हुआ तलाब में तब्दील।।

सासाराम हुआ पानी-पानी,शहर हुआ तलाब में तब्दील।।

धीरज झा
सासाराम : कहा जाता है कि जल ही जीवन है और जब यही जल बारिश के रूप में लगातार बरसने लगती है तो यही लोगों के लिए परेशानी का सबब बन जाती है। जी हां यही बात आज सासाराम के वासियों पर लागू हो रही है। आज घंटो की बारिश से खुली जिला प्रशासन की पोल, तालाब में शहर तब्दील हुआ, मंदिर में घुसा पानी आज हमने स्थानीय लोगों से पूछा कि क्या यह समस्या सालों बाद आता है उन्होंने बताया कि जी हां आपको दिखा रहे हैं कि किस तरह से सड़क पर तलाब बना और सीधा पानी मंदिर में प्रवेश कर रहा है झरना के तरह। हॉस्पिटल में भी लगा हुआ है पानी लोगों को आने जाने में हो रही है काफी दिक्कत। सासाराम में लगातार बारिश से सासाराम की सड़कों की हालत बुरी हो गई है। चारों तरफ जल ही जमा है। मोहल्ले या सासाराम का हॉस्पिटल या सासाराम का मेन शिव मंदिर चारों तरफ पानी ही पानी है। इस बारिश ने सासाराम नगर परिषद की पोल खोल कर रख दी है। आज बारिश से सड़क तालाब बन गया है। जी हां नगर परिषद ने दावा किया था कि सभी नाले को साफ कर दिया गया है पर सवाल ये उठता है की फिर कैसे शहर के  मोहल्लों में जलजमाव हो गया। कहीं न कहीं यह नगर परिषद की भारी चूक और चेंबर में बैठे अधिकारियों को कोई फर्क नहीं पड़ता है। शहरवासियों के लिए  उनकी परेशानी, इन्हें तो बस अपने पेमेंट से मतलब है। शहरवासी लाख परेशान हो कुछ फर्क पड़ने वाला नहीं है। इन अधिकारी लोगों को शिव घाट मंदिर के पास बना नाला जाम होने के कारण पानी का जलजमाव हो गया। जिससे  शिव घाट मंदिर के आसपास के घरों का गंदगी भी नाले में जाता है पर नाला साफ नहीं होने के कारण मंदिर में चल जाता है। रोहतास के सासाराम में आज घंटो की वर्षा से तालाब में तब्दील हुआ। शिव मंदिर में पानी ही पानी हो गया । स्थानीय निवासी पूनम ने कहा कि 2 घंटे से बारिश हो रही है। चारों तरफ पानी-पानी लग गया है। कोई ध्यान नहीं दे रहा है। आपको बता दें कि यहां से ये रास्ता चारो तरफ जाता है। सासाराम के धान गोला में जाता है, लेकिन आज जोरदार बारिश हुई तो लोगों को घर से निकलना मुश्किल हो गया। प्राचीन शिव मंदिर में श्रद्धालु और पुजारी फंसे रहे। वहीं स्थानीय निवासी पुष्पा ने कहा कि आप देख रहे हैं चारों तरफ पानी ही पानी है। मंदिर में पानी समा रहा है। इसकी निकासी का कोई सुविधा नहीं है। वहीं पुजारी ने बताया कि कई मर्तबा स्थानीय विधायक से इस समस्या को लेकर बात की गई, किंतु ढाक के तीन पात ही रहा। सड़क से कई लोग अपने बाईक से रहे थे तो उस दौरान गाड़ी बीच मे ही बंद हो जाती थी तो कई लोगों को आनन्द भी आ रहा था। गंदे पानी मे शहर के बच्चों को नहाने में भी मजा लगता था। सासाराम का सदर अस्पताल और यह है सासाराम की सड़के। सभी जगह पानी ही पानी नजर आ रहा है। कारण है कि बारिश ने पूरे नगर का सूरत हाल बिगाड़ कर रख दिया है। विभिन्न सरकारी कार्यालयों के परिसर में तो पानी लगा ही हैं, सबसे बड़ी बात है कि सदर अस्पताल परिसर में नाले से गंदा पानी निकल कर पूरे परिसर में फैल गया है। यहां आने वाले मरीजों तथा उनके परिजन कहते हैं कि यहां आकर उनका मरीज और बीमार हो जाएगा। पानी निकासी की सुविधा नहीं होने के कारण ऐसी विकट स्थिति आई है। स्थानीय नागरिक मोहन सीताराम ने कहा कि चारों तरफ शहर का नाला जाम हो गया है। जिस कारण पानी की निकासी सही से नहीं हो पा रही है। इसीलिए जैसे ही बारिश शुरू होती है। पूरा शहर पानी में डूबने लगता है। हम लोग परेशान हो जा रहे हैं। अब आप समझ सकते हैं कि सालों भर चलाया जाने वाला स्वच्छता अभियान की पोल बरसात के महीना में ही खुल गयी है। चाहे मंदिर हो या सासाराम हॉस्पिटल या सासाराम का मेन मार्केट धर्मशाला चारों तरफ पानी ही पानी। अब यह देखना है कि नगर परिषद इसकी सफाई कितनी जल्दी करा कर लो को राहत का कार्य करती है।