Headlines
Loading...
भाजपा महिला मोर्चा जिलाध्यक्ष ने निजी अस्पताल में महिला की मौत होने से प्रशासनिक व्यवस्था पर उठाए कई सवाल।।

भाजपा महिला मोर्चा जिलाध्यक्ष ने निजी अस्पताल में महिला की मौत होने से प्रशासनिक व्यवस्था पर उठाए कई सवाल।।

भाजपा महिला मोर्चा जिलाध्यक्ष ने निजी अस्पताल में महिला की मौत होने से प्रशासनिक व्यवस्था पर उठाए कई सवाल।
धीरज झा
जमुई शहर में बीते दिनों निजी अस्पताल में डिलीवरी के दौरान लापरवाही बरतने के कारण युवा भाजपा नेता की बहन की हुई मौत पर भाजपा महिला मोर्चा  जिलाध्यक्ष साधना सिंह ने प्रशासनिक व्यवस्था पर कई सवाल उठाए हैं। साथ ही जिले में स्वास्थ्य विभाग की चरमराई हुई विधि व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए जमुई जिलाधिकारी से मांग भी की है।
भाजपा महिला मोर्चा की जिला अध्यक्ष साधना सिंह ने बताते हुए कहा कि बीते दिनों एक दुखद घटना घटित हुई। हमारी बहन समान साथ मे पढ़ी-बढ़ी सहपाठी प्रीति बाला जमुई में पैसे की गोरखधंधे की बलिबेदी पर चढ़ गई। बहुत दुख के साथ कहना पड़ रहा है कि जमुई जिले में स्वास्थ्य विभाग की हालत बहुत ही लचर हो गई है। यहां महिलाओं के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। जमुई सदर अस्पताल कितने गरीब लाचार बेबस परिवारों के लिए एक आशा है परंतु यहां स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही के कारण ना जाने कितने मरीज दरबदर की ठोकरें खाकर मौत के आगोश में सो जाते हैं। जमुई सदर अस्पताल में अल्ट्रासाउंड मशीन होने के बावजूद भी जांच नहीं किया जाता है उस रूम में ताला मार दिया जाता है और सभी गर्भवती महिलाएं शहर में  भटकने को मजबूर हो जाती हैं। कमीशन का धंधा हर जगह बना हुआ है। अल्ट्रासाउंड करने वाले धंधेबाज और सदर अस्पताल के बीच सेटिंग की वजह से शहर में खुले अल्ट्रासाउंड में गर्भवती महिलाओं एवं अन्य मरीजों को भेज दिया जाता है और सदर अस्पताल का अल्ट्रासाउंड बंद कर  रखा जाता है। बहुत दुख के साथ यह कहना पड़ रहा है की जिला स्तरीय कोई भी स्वास्थ्य सुविधा हमारे जिला में उपलब्ध नहीं है। इसकी वजह है कुछ लापरवाह पदाधिकारी एवं चाटुकार लोग सभी महिला को बहुत ही महिमामंडित कर भाषण तो दे देते हैं परंतु हकीकत में महिला की गुहार सुनने वाला कोई नहीं है।
उन्हीने कहा कि मैं जिला प्रशासन के मुखिया जिलाधिकारी से यह विनती करती हूं की जमुई सदर अस्पताल में बिगड़ी हुई स्वास्थ्य व्यवस्था को अतिशीघ्र दुरुस्त किया जाए। जिला महिला मोर्चा अध्यक्ष ने बताया कि  मैं स्वयं प्रदेश एवं केंद्र तक हर अधिकारी से बात करूंगी। हर अधिकारियों का सहयोग लेकर सदर अस्पताल की सारी जरूरतों को पूरा किया जाएगा मैं जिला प्रशासन से पुनः आग्रह करती हूं की महिलाओं की दुर्दशा को देखा जाए। आज  हमारी मित्र प्रीति वाला हमारे बीच नहीं रही आनन-फानन में डिलीवरी के लिए उसे पुष्पांजलि निजी अस्पताल ले जाया गया जहां उसकी जीवन ही समाप्त हो गई। आज हमने मित्र को खो दिए और न जाने हर रोज कितनी माताएं और बहनें इस मुनाफाखोरी की बलि पर चढ़ रही हैं। लगातार माताओं बहनों की बेवजह ना जान जाए इसके लिए जिला प्रशासन विशेष तौर पर ध्यान दे।