Headlines
Loading...
भारतीय संविधान जागृति मोर्चा संगठन के नेतृत्व में अभिभावकों ने कही मन की बात।।

भारतीय संविधान जागृति मोर्चा संगठन के नेतृत्व में अभिभावकों ने कही मन की बात।।

भारतीय संविधान जागृति मोर्चा संगठन के नेतृत्व में अभिभावकों ने कही मन की बात।।



गजेन्द्र सिंह
आज भारतीय संविधान जागृति मोर्चा संगठन के नेतृत्व में सभी अभिभावक कोविड-19 से परेशान अपनी आवाज सरकार तक पहुंचाने के लिए भगवानपुर पंचायत में बच्चे ,अभिभावक खड़े होकर हाथों में तख्त लिए हुए सरकार को बताना चाह रहे हैं कि हम निराश भूखे हैं। हमारे पास ना खाने के लिए है। ना स्कूल वाले को देने के लिए पैसा । आज गरीब एवं मिडिल क्लास के लोग भूख से मर रहे हैं। उनके पास ना काम है ना खाने को पैसा है । स्कूल वाले एसएमएस और कॉल करके मासिक फीस जमा करने को कह रहे हैं। जबकि मार्च महीना से अभी तक स्कूल बंद है। जब पढ़ाई ही नहीं हुई और बच्चे पढ़ने ही नहीं जा रहे हैं तो पैसा किस बात की दी जाए। उन्होंने कहा कि ऑनलाइन पढ़ाई एक व्यापार हो गयी है । 0 से लेकर 8th क्लास का बच्चा ऑनलाइन पढ़ाई का मतलब भी नहीं जानता है। मोबाइल तो उनके लिए एक खिलौना है। जबकि बच्चे कोई पढ़ाई ही नहीं पा रहे हैं। गरीब एवं मिडिल क्लास के बच्चे कैसे ऑनलाइन पढ़ाई कर सकते हैं। उनके पास पढ़ने के लिए कोई साधन ही नहीं है। बुक भी अभी नहीं है। वह कैसे पढ़ेंगे। सभी अभिभावक अपने अपने विचार रखें। पढ़ाई नहीं तो पैसा नहीं , जब तक स्कूल खुलेगी नहीं और पढ़ाई होगी नहीं तब तक पैसा नहीं , स्कूल वाले अपनी मनमानी करना बंद करें। अभिभावक पर फीस जमा करने की दबाव देना बंद करें। कोई भी स्कूल पैसा मांगते हैं तो सरकार स्कूल पर करवाई करें। उपस्थित लोग मनोज कुमार यादव , आलोक कुमार सिंह (कुशवाहा ), राजा गुप्ता , विष्णु देव कुमार, रिंकी देवी, पिंकी देवी, आशा कुमारी आदि शामिल हुए।