Headlines
Loading...
हजारीबाग (झारखंड) : त्रिवेणी कंपनी की तानाशाही रवैया नहीं चलेगी- सुबोध कांत सहाय

हजारीबाग (झारखंड) : त्रिवेणी कंपनी की तानाशाही रवैया नहीं चलेगी- सुबोध कांत सहाय




By: बिहार/झारखंड ब्यूरो चीफ धीरज झा

हजारीबाग आशीष कृष्णन की रिपोर्ट 

हजारीबाग जिला परिषदन भवन में सुबोध कांत सहाय ने एक पत्रकार वार्ता कर कहा कि बड़कागांव में चल रहे त्रिवेणी सैनिक कंपनी की तानाशाही रवैया हमारी सरकार में नहीं चलेगी। उन्होंने यह भी कहा कि बड़कागांव का संघर्ष किसानों का संघर्ष रहा है। यहां सभी सरकारें आकर एक मंच पर विराजमान होकर बड़कागांव की जनता के हित के लिए वादे कर गए लेकिन यहां की जनता का न तो विकास हुआ और न ही इन्हें कंपनी में रोजगार मिला। इसी की लड़ाई लड़ते लड़ते बड़कागांव के पूर्व विधायक योगेंद्र साव व उनकी विधायक पत्नी आज जेल में है। उनके परिजनों को पूर्व की सरकार ने हमेशा परेशान किया है। किसी तरह की आंदोलन करने पर पूर्व सरकार की ओर से बड़कागांव की जनता के ऊपर कई एफआईआर दर्ज भी किए गए। और कितने किसान जेल भी जा चुके हैं। यह सब रघुवर सरकार के समय का खेल है। इसको लेकर कल मंगलवार को रांची में कमेटी के साथ एक बैठक की जाएगी। उन्होंने यह भी कहा कि एनटीपीसी बड़कागांव व करणपुरा में 16000 एकड़ जमीन लेना चाह रही है। 

वहीं उन्होंने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा की सरकार लूटने का काम किया है। किसानों को संघर्ष करने पर मजबूर ना करें उन्हें न्याय मिले यही किसानो का नारा था। पत्रकार वार्ता में बरही विधायक अकेला यादव, अवधेश सिंह, शशीभुषण सिंह, बबलू कुमार कुशवाहा, कृष्ण कुमार सिन्हा सहित कई लोग उपस्थित थे