Headlines
Loading...
मुजफ्फरपुर (बिहार) : पानी निकासी में विफल होने पर नगर आयुक्त से जवाब तलब, कार्यपालक अभियंता का वेतन बंद- मंत्री सुरेश शर्मा

मुजफ्फरपुर (बिहार) : पानी निकासी में विफल होने पर नगर आयुक्त से जवाब तलब, कार्यपालक अभियंता का वेतन बंद- मंत्री सुरेश शर्मा



13 दिन में तीसरी उच्चस्तरीय समीक्षा में मंत्री सुरेश शर्मा ने कहा अब बैठक नहीं कार्रवाई होगी

By: बिहार/झारखंड ब्यूरो चीफ धीरज झा

मुजफ्फरपुर संवाददाता अरविंद अकेला की रिपोर्ट

मुजफ्फरपुर : नगर विकास मंत्री ने किया सवाल मुजफ्फरपुर नगर निगम में क्या हो रहा है, कौन देखेगा सिस्टम को करीब दो महीने से भीषण जलजमाव झेल रहे है। मुजफ्फरपुर शहर से पानी निकलवाने में विफल नगर निगम के अधिकारियों पर कार्रवाई तय मानी जा रही है। महज 13 दिनों के अंदर तीसरी बार मंत्री की अध्यक्षता में सोमवार की देर शाम मुजफ्फरपुर शहर में जलजमाव 6 की भीषण समस्या पर उच्च स्तरीय समीक्षा की गयी। लेकिन अब भी कई इलाकों में जलजमाव कायम है। इसे देखते हुए नगर आयुक्त मनीष कुमार मीणा से जवाब तलब किया गया है, जबकि कार्यपालक अभियंता अशोक कुमार सिन्हा का बेतन बंद करते हुए विभागीय कार्रवाई व सस्पेंड करने की चेतावनी दी गयी है।

वहीं बैठक की अध्यक्षता करते हुए नगर विकास एवं आवास मंत्री सुरेश शर्मा ने कहा शहर की मुख्य सड़कों से पानी हटा है। लेकिन गली मोहल्लों में समस्या बनी हुई है। शहर की ऐसी स्थिति तब बनी हुई है जबकि दो बार उच्चस्तरीय कर बैठक कर जितनी भी मशीनरी की जरूरत है उसे भाड़ा पर लेने का निर्देश दिया गया।
मंत्री व विभागीय सचिव का पालन नहीं किया गया। नीचे के अधिकारियों ने अंधेरे में रखा। नगर आयुक्त को इस पर दोषी अधिकारियों को चिन्हित कर कारवाई करनी चाहिए थी जो उन्होंने अब तक नहीं किया। हम शहर को किसी भी स्थिति में डूबने नहीं देंगे। किसी एक शहर में जलजमाव की समस्या को लेकर तीन तीन बार बैठक की गई है अब कोई बैठक नहीं होगा सीधी कारवाई होगी अब भी मिठनपुरा, बीबी गंज, बालू घाट, चर्च रोड, पंकज मार्किट रोड, क्लब रोड और रज्जू शाह लेन समेत कई इलाकों में जलजमाव की समस्या बनी हुई है। ट्रॉली माउंटेड पंप सेट की अविलंब व्यवस्था करने का निर्देश दिया गया है ,ताकि गली मोहल्लो का पानी निकाला जाए।

निर्देश 50 फागिंग मशीन खरीद का,निगम ने 10 के लिए भेजी फाइल

मुजफ्फरपुर शहर में मच्छरों के अत्यधिक प्रकोप को देखते हुए 10 अगस्त की समीक्षा बैठक में 50 फागिंग मशीन की खरीदारी का निर्देश विभागीय सचिव ने दिया था l लेकिन, नगर निगम की ओर से महज 10 फागिंग मशीन खरीदने के लिए फाइल मुख्यालय भेजी गई है। इस पर कड़ी आपत्ति जताते हुए मंत्री और विभागीय सचिव ने कहा आखिर मुजफ्फरपुर निगम में हो क्या रहा है, तो 10 की ही खरीदारी की फाइल नहीं देखते हैं एस्टीमेट बनाने में उदासीनता को लेकर कार्यपालक अभियंता अशोक सिन्हा पर मंत्री ने बेहद नाराजगी जताते हुए तत्काल उनका वेतन बंद करने का निर्देश दिया l 

24 को स्मार्ट सिटी की योजनाओं का शिलान्यास का निर्देश

लंबे समय से स्मार्ट सिटी का काम सिर्फ मुजफ्फरपुर में कागज पर चल रहा है। क्षेत्रीय समीक्षा में यह निर्देश दिया गया की जिन योजनाओं का टेंडर हो गया है उनका चौबीस अगस्त को शिलान्यास किया जाए साथ ही नमामि गंगे के तहत सिकंदरपुर घाट, चंदवारा घाट व अखाड़ाघाट का शिलान्यास पीएम नरेन्द्र मोदी से ऑनलाइन कराने का अनुरोध किया गया l