Headlines
Loading...
नॉलेज मैनजमेंट वर्चुअल मीट

नॉलेज मैनजमेंट वर्चुअल मीट


भारत में नागरिक उड्डयन उद्योग पिछले तीन वर्षों के दौरान देश में सबसे तेजी से बढ़ते उद्योगों में से एक के रूप में उभरा है। भारत दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा घरेलू विमानन बाजार बन गया है और 2024 तक ब्रिटेन से आगे निकलने की उम्मीद है।
भारत में विमानन क्षेत्र जीडीपी में $ 72 बिलियन का योगदान देता है। भारत में 464 हवाई अड्डे और हवाई पट्टियां हैं, जिनमें से 125 हवाई अड्डों का स्वामित्व भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) के पास है।
कुल मिलाकर $ 3.3- 3.6 बिलियन का नुकसान भारतीय विमानन क्षेत्र को अप्रैल - जून 2020 की अवधि के दौरान हुआ है, जिसमें हवाई अड्डे, एयरलाइंस और ग्राउंड हैंडलिंग एजेंसियां ​​शामिल हैं।
COVID19 महामारी ने इस क्षेत्र पर जोरदार प्रहार किया है और इसके पुनरुद्धार की आवश्यकता हैइसे ध्यान में रखते हुए ASSOCHAM ने नॉलेज मैनेजमेंट वर्चुअल मीट - एविएशन- रिवाइवल एंड वे फॉरवर्ड का आयोजन किया- स्वागत सम्बोधन श्री भरत जायसवाल, क्षेत्रीय निदेशक, एसोचैम द्वारा दिया गया

श्री नृपेंद्र सिंह, उद्योग प्रधान एयरोस्पेस एंड डिफेंस फ्रॉस्ट एंड सुलिवन GLobal, भारत ने सत्र को संचालित किया।

उद्योग के तकनीकी विशेषज्ञों ने भी इस विषय पर अपने विचार साझा किए:

डॉ सुमीत सुशीलन: अध्यक्ष एसोचैम झारखंड राज्य कौशल विकास परिषद और अध्यक्ष इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एविएशन प्राइवेट लिमिटेड, छत्तीसगढ़श्री संपतकुमारन एस टी: उपाध्यक्ष और प्रमुख - हेलीकाप्टर, यूएवी और विमान सेवा (एमआरओ) अदानी ग्रुप में - एयरोस्पेस और रक्षा
श्री वरुण विजय सिंह: मार्केटिंग डायरेक्टर साब इंडिया टेक्नोलॉजीज प्राइवेट लिमिटेडश्री पीटर कैबूटर: ग्राहक मामलों के उपाध्यक्ष, आइरोन
श्री अनंत रमना: बिजनेस हेड और ग्रुप सीएफओ, डेक्कन चार्टर