Headlines
Loading...
मैं पहले शिक्षक हूँ फिर कुलसचिव: डॉ शिवा रंजन

मैं पहले शिक्षक हूँ फिर कुलसचिव: डॉ शिवा रंजन



---- नए कुलसचिव ने कार्यभार संभाला
दरभंगा।
संस्कृत विश्वविद्यालय के नवनियुक्त कुलसचिव  डॉ शिवा रंजन चतुर्वेदी ने आज अपना कार्यभार सम्भाल लिया है। मंगलाचरण के बाद सभी पदाधिकारियों को आश्वश्त करते हुए उन्होंने कहा कि मैं मूल रूप से शिक्षक हूँ। इसलिए शिक्षक कहलाना ही ज्यादा पसंद करूँगा। इसके बाद ही कुलसचिव। शिक्षक का जो दायित्व  और कर्तव्य है उसे वे एकदम जीवंत रखेंगे। प्रशासनिक कार्यों में भी कोई कोताही नहीं रहेगी।मौके पर मौजूद विश्वविद्यालय के सभी पदाधिकारियों ने भी उन्हें भरोसा दिलाया कि वे सहयोग में कंजूसी नहीं करेंगे। बता दें कि डॉ चतुर्वेदी ने 15वे कुलसचिव के रूप में अपना योगदान दिया है।




इसके पूर्व प्रभारी कुलसचिव सह पीआरओ निशिकांत ने उन्हें फूलमाला पहनाकर अभिवादन किया एवम बुके से स्वागत किया। वहीं प्रभारी कुलपति प्रो0 शिवकांत झा ने भी आशा व्यक्त की कि स्थायी कुलसचिव के आने से अब कई समस्याओं का हल सुलभ हो जाएगा।प्रोक्टर प्रो0 श्रीपति त्रिपाठी ने
भी कुलसचिव डॉ चतुर्वेदी का स्वागत किया और चहुमुखी विकास की आशा व्यक्त की। कार्यभार के समय बिहार विश्वविद्यालय के आईक्यूएसी निदेशक प्रो0 कल्याण कुमार झा, डॉ सतीश कुमार,डॉ गजेंद्र कुमार,डॉ ललन शर्मा,नवनीत तिवारी समेत संस्कृत विश्वविद्यालय के तमाम पदाधिकारी व कर्मी शारीरिक दूरी का पालन करते हुए मौजूद रहे।