Headlines
Loading...
महाराजगंज के विकास के बिना बिहार की विकास की कल्पना नहीं की जा सकती है, विधायक

महाराजगंज के विकास के बिना बिहार की विकास की कल्पना नहीं की जा सकती है, विधायक

महाराजगंज के विकास के बिना बिहार की विकास की कल्पना नहीं की जा सकती है, विधायक 

विधायक ने किया मांझी बरौली स्टेट हाईवे के चौड़ीकरण कार्य का शिलान्यास

खुशखबरी - 94 करोड़ 56 लाख की लागत से बनेगी महाराजगंज की लाईफ लाइन

सुनील कुमार महाराजगंज

सारण कमिश्नरी के तीनों जिला सारण सिवान गोपालगंज को आपस में जोड़ने वाली स्टेट हाईवे 96 मांझी बरौली पथ का शिलान्यास स्थानीय जदयू विधायक हेमनारायण साह मंगलवार को दिन चंचौरा में किया। इस मौके पर उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि क्षेत्र के विकास के लिए अच्छी सड़क का होना बहुत जरूरी है। यह सड़क महाराजगंज के विकास में मील का पत्थर साबित होगा इस सड़क से महाराजगंज का भविष्य जुड़ा हुआ है। इस ने इस सड़क को महाराजगंज का लाइफ लाइन कहा जाता है। उन्होंने कहा कि स्टेट हाईवे 96 मांझी बरौली पथ सिर्फ सारण कमिश्नरी को आपस में नहीं जोड़ता है बल्कि यह नेपाल और उत्तर प्रदेश को भी जोड़ता है। इसलिए महाराजगंज के विकास के बिना बिहार की विकास की कल्पना नहीं की जा सकती है।
मौके पर नीलेश सिंह,दीपक बाबा,अवधेश बाबा,अमरजीत सिंह,भानु प्रताप सिंह, निरंजन सिंह,अमित मिश्रा, पंकज सिंह,भोला जी, हरिकेश जी, गौरभ प्रसाद, जनकदेव सिंह, सर्वजीत कुमार, रमेश मांझी, राजेश यादव आदि उपस्थित थे। 

फोटो - सड़क निर्माण कार्य का शुभारंभ करते हुए विधायक हेमनारायण साह
94 करोड़ 56 लाख की लागत से 64 किलोमीटर स्टेट हाईवे 96 बनेगी

राजनीति में हमेशा मुद्दा रही है यह सड़क
तीन जिलों की चार विधानसभा क्षेत्रों काे आपस में जोड़ती है। यह सड़क चार-चार विधायकों के लिए राजनीतिक प्रतिष्ठा रही है। 94 करोड़ 56 लाख की लागत से 64 किलोमीटर स्टेट हाईवे 96 बनेगी। यह सड़क सात मीटर चौड़ी होने के बाद से दोनों तरफ से वाहनों के परिचालन में सहूलियत होगी। गौर करने वाली बात है कि इस सड़क की बदहाली और उसके निर्माण का किस्सा बहुत ही रोचक है। यह सड़क बहुत पुरानी है, जिसे 80 के दशक में व‌र्ल्ड बैंक द्वारा बनवाया गया था, लेकिन इस सड़क की चौड़ाई मात्र तीन मीटर होने के कारण दो वाहन एक साथ एक तरफ से नहीं जा पाते थे। दोनों तरफ से बड़ी गाड़ियों को एक साथ क्रॉसिग में भी परेशानी होती थी। सड़क आरसीडी के जब अधीन आई तो इसे सात मीटर चौड़ा करने का प्रस्ताव तैयार कर विभाग को भेजा गया। वर्तमान में इस सड़क की लंबाई 64.56 किलोमीटर है। यह सड़क तीनों जिले के चार विधानसभा क्षेत्र बरौली, गोरेयाकोठी, महाराजगंज, एकमा और मांझी को राजनीतिक रूप से जोड़ती है। इस सड़क की बदहाली को लेकर इन चारों विधानसभा क्षेत्रों में जीतने वाले विधायकों को खरी-खोटी सुननी पड़ती रही थी।

0 Comments: