Headlines
Loading...
पटना (बिहार) : पीएम मोदी के जन्मदिन पर पूरे देश में छात्र-नौजवानों मनाया राष्ट्रीय बेरोजगार दिवस,ट्वीटर पर ट्रेंड होते रहा राष्ट्रीय बेरोजगार दिवस।।।

पटना (बिहार) : पीएम मोदी के जन्मदिन पर पूरे देश में छात्र-नौजवानों मनाया राष्ट्रीय बेरोजगार दिवस,ट्वीटर पर ट्रेंड होते रहा राष्ट्रीय बेरोजगार दिवस।।।

 पटना (बिहार) : पीएम मोदी के जन्मदिन पर पूरे देश में छात्र-नौजवानों मनाया राष्ट्रीय बेरोजगार दिवस,ट्वीटर पर ट्रेंड होते रहा राष्ट्रीय बेरोजगार दिवस।



पटना : प्रधानमंत्री मोदी जी के जन्मदिवस पर आइसा-इनौस ने राष्ट्रीय बेरोजगारी दिवस मनाने का घोषणा किया था, जिसका असर पूरे देशभर में मिला बिहार के तमाम जिलों में बड़ी संख्या में छात्र-नौजवान सड़क पर उतरे कही मशाल जला कर कहीं मोदी का पुतला दहन कर रोजगार दो-निजिकरण बन्द करो-संविदा पे नौकरी नही चलेगा जैसे नारो के साथ रोजगार के लिए आवाज बुलंद किया।



पटना में श्री कृष्णा नगर पार्क 1, किदवई पूरी से लेकर इनकम टैक्स गोलम्बर तक मशाल जुलूस, कारगिल चौक गाँधी मैदान, चितकोहरा में मशाल जुलुश निकालकर युवाओं ने पीएम मोदी के जन्मदिन को राष्ट्रीय बेरोजगार दिवस के रूप में मनाया। 



इस कार्यक्रम को पटना के अलावे बिहार के आरा, सिवान, दरभंगा, समस्तीपुर, गोपालगंज, बक्सर, नालंदा,बेगुसराय,गया,कटिहार,पटना ग्रामीण,त्रिवेणीगंज,सहरसा जहानाबाद, अरवल आदि जिलों में भी किया गया।


इनकम टैक्स-कारगिल चौक-चितकोहरा में मशाल जुलूस के बाद आयोजित सभा को संबोधित करते हुए आइसा राज्य संह सचिव आकाश कश्यप और इनौस राज्य सचिव सुधीर कुमार ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार छात्र-युवाओं के लिए आपदा बन गयी है। प्रधानमंत्री जुमलाधिराज बन गए हैं जो सिर्फ जुमला दे-दे कर देश को बर्बाद करने पर तुले हुए है। इस बात को देश के युवाओं ने समझ लिया है इसलिए रोजगार के सवाल पर पिछले एक महीने से युवा वर्ग आंदोलनरत है। करोड़ो लोगों का रोजगार छीन लिया गया है। कोरोना जैसी आपदा की आड़ में देश को बेचने की मुहिम पर सरकार चल पड़ी है। जिन संस्थानों, सेवाओं को मेहनत से खड़ा किया गया था और जो देश को करोड़ों रोजगार के अवसर प्रदान करते हैं उसे मुट्ठी भर पूंजीपतियों के हाथों में सरकार सौंप देना चाहती है।


उन्होंने कहा देश का युवा निजीकरण की असलियत को समझ गया है कि ये सिर्फ और सिर्फ हमारी जिंदगियों को गुलाम बनाने के सिवा कुछ नही है। इसलिए हमारी माँग है कि रेलवे, कोल इंडिया बीएसएनएल, एलआईसी समेत सभी सरकारी उपक्रमों की निजीकरण पर अविलम्ब रोक लगाई जाए।एसएससी, रेलवे समेत सभी लंबित परीक्षाओं का परीक्षा कैलेंडर जारी किया जाये। जितने भी पद रिक्त है उनकी अविलंब बहाली ली जाये अन्यथा हर बेरोजगार को 10 हजार रु प्रतिमाह दिया जाये।


सभा को संबोधित करते हुए युवा नेता पुनीत ने कहा की बिहार में आगामी दिनों में चुनाव होना है लेकिन वर्त्तमान नीतीश सरकार अपनी नाकामियों को छिपाने के लिए पुराने दिनों की याद दिला कर चुनावी बेड़ा पार करना चाह रही है। नीतीश सरकार ने पिछले 15 वर्षों में रोजगार के मामले में बेरोजगार के नाम पर टॉप हो गए है ऐसा कोई परीक्षा नही जो धांधली का तमगा नही लेता इसलिए इस चुनाव में युवाओं का हुंकार है रोजगार अहम मुद्दे होंगे।मशाल जुलूस में आइसा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रणविजय, इनौस पटना नगर के सचिव विनय कुमार, अजीत सिंह, संजय यादव,अभय कुमार, मुकेश कुमार, अखिलेश कुमार, राहुल, आदिप, डेविड, विवेक दीप, संजय आदि नौजवान शामिल हुए।

0 Comments: