Headlines
Loading...
कुलपति ने कहे संस्कृत के बिना हमारी संस्कार की रक्षा नहीं हो सकती

कुलपति ने कहे संस्कृत के बिना हमारी संस्कार की रक्षा नहीं हो सकती




कुलपति ने कहे संस्कृत के बिना हमारी संस्कार की रक्षा नहीं हो सकती संस्कृत के उत्थान के लिए संस्कृत प्रेमी छात्र एवं छात्राओं को तरजीह देना महत्वपूर्ण है आज दिनांक 24 सितंबर 2020 को पूर्व निर्धारित कार्यक्रम अनुसार दिन बृहस्पतिवार को कामेश्वर सिंह दरभंगा संस्कृत विश्वविद्यालय परिसर स्थित स्नातकोत्तर व्याकरण विभाग में बिहार प्रदेश संस्कृत विद्यार्थी मोर्चा की ओर से संस्कृत विश्वविद्यालय के नवनियुक्त कुलपति प्रोफेसर डॉक्टर श्री शशि नाथ झा महोदय का अभिनंदन एवं सम्मान समारोह का आयोजन किया गया जिसकी अध्यक्षता स्नातकोत्तर व्याकरण विभाग के विभागाध्यक्ष प्रोफेसर डॉक्टर श्री उमेश शर्मा ने किया कार्यक्रम की शुरुआत कुलपति महोदय द्वारा मां सरस्वती एवं महाराज सर कामेश्वर सिंह के तैल चित्र पर माल्यार्पण के साथ हुआ विद्वान कुलपति ने कहे संस्कृत के बिना हमारी संस्कार की रक्षा नहीं हो सकती संस्कृत के उत्थान के लिए संस्कृत प्रेमी छात्र एवं छात्राओं को तरजीह देना महत्वपूर्ण है छात्र के बिना हम किसी भी विश्व विद्यालय महाविद्यालय की कल्पना नहीं कर सकते छात्र ही हमारी पूजी हैं उन्होंने कहा छात्रों के हित के लिए जो भी कदम उठाना पड़े उसके लिए हम सभी को तैयार रहना होगा हमें सभी का सहयोग चाहिए एवं स्वजन का प्यार चाहिए संबोधित करते हुए कुलपति महोदय ने कहा की व्याकरण विभाग मेरा कर्मस्थली नहीं परंतु तपोस्थली भी रहा है आज विभाग ने जो मुझे सम्मान दिया है उसके लिए सभी को आशीर्वाद एवं धन्यवाद साथ ही अध्यक्षीय भाषण करते हुए व्याकरण विभागाध्यक्ष प्रोफेसर डॉक्टर श्री उमेश शर्मा जी ने कहा न्याय के पथ पर हम लोग विश्वविद्यालय के कुलपति से मिलकर विश्वविद्यालय के हित में काम करेंगे कि विश्वविद्यालय में कुछ  कुरीतियां है जिसे हम सब लोग मिलकर वैसे प्रवृत्ति वाले लोगों का विश्वविद्यालय से सफाया करेंगे और छात्र हित में जो भी बन पाएगा करता आया हूं करता रहूंगा सभा को संबोधित करते हुए प्रदेश अध्यक्ष श्री पंकज कुमार ने कहा की वर्तमान में हमें फुल पत ही नहीं विश्वविद्यालय का तारणहार भी मिल गया है हमारी छात्र संगठन इनके साथ मिलकर विश्वविद्यालय प्रशासन का सहयोग करते हुए काम करेगी और जो कुछ अराजक तत्व है उन लोगों को विश्वविद्यालय से समूल निकाला जाएगा साथ ही अध्यक्ष आदेशानुसार कार्यक्रम का समापन किया गया कार्यक्रम की अध्यक्षता एवं संचालन व्याकरण विभागाध्यक्ष प्रोफेसर डॉक्टर श्री उमेश शर्मा महोदय ने किया इस सभा में मुख्य रूप से साहित्य के मूर्धन्य विद्वान प्रोफेसर डॉ श्री लक्ष्मी नाथ मिश्र ज्योतिष विभागाध्यक्ष प्रोफेसर डॉ श्री हरेंद्र किशोर झा सीसीडीसी प्रोफेसर डॉक्टर श्री दिलीप झा धर्मशास्त्र विभागीय प्रोफ़ेसर सुरेंदर बारिक वेद विभाग से श्री सत्यवान कुमार ज्योतिष विभाग आचार्य श्री कुणाल कुमार झा राम निहोरा राय सहित प्रदेश अध्यक्ष श्री पंकज कुमार छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष श्री बलराम जी झा व्याकरण विभाग के पूर्व परिषद सदस्य श्री शिवानंद झा दीपक कुमार चौधरी राजेश कुमार राय रती कांत झा भारतेंदु झा रूपेश झा संजीव कुमार अमरजीत कुमार पूर्व छात्र संघ संयुक्त सचिव जितेंद्र कुमार आदित्य कुमार झा इत्यादि छात्र एवं छात्र नेता सहित विश्वविद्यालय के कई कर्मी उपस्थित थे निवेदक श्री पंकज कुमार प्रदेश अध्यक्ष बिहार प्रदेश विद्यार्थी मोर्चा प्रेस विज्ञप्ति प्रकाश नाथ एवं प्रसार नार्थ सभी मीडिया कर्मी

0 Comments: