Headlines
Loading...
देश के किसान अपनी फसल की कीमत मांग रहे और केंद्र की भाजपा सरकार उनके साथ आतंकवादियों जैसा व्यवहार कर रही : आप।

देश के किसान अपनी फसल की कीमत मांग रहे और केंद्र की भाजपा सरकार उनके साथ आतंकवादियों जैसा व्यवहार कर रही : आप।

देश के किसान अपनी फसल की कीमत मांग रहे और केंद्र की भाजपा सरकार उनके साथ आतंकवादियों जैसा व्यवहार कर रही : आप।


पटना:

केंद्र सरकार की ओर से लाए गए तीनों कृषि विरोधी काले- कानूनों को वापस करवाने के उद्देश्य से पटना के कारगिल चौक पर आम आदमी पार्टी बिहार के कार्यकर्ताओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला दहन किया। सुयश कुमार ज्योति उर्फ राजा के नेतृत्व में पार्टी कार्यकर्ताओं ने केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।इस संबंध में मीडिया को जानकारी देते हुए आप नेता मनोज कुमार ने बताया कि कृषि को लेकर लाए गए काले कानूनों के विरुद्ध महीनों से शांतिपूर्वक आंदोलन कर रहे पंजाब और देश के किसानों को अनदेखा और अनसुना कर रही केंद्र की गूंगी-बहरी सरकार को जगाने के लिए आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला फूंका गया।  किसानों की आवाज प्रधानमंत्री के कानों तक पहुंचाने के लिए जोरदार नारेबाजी की।आम आदमी पार्टी बिहार के नेता बबलू कुमार प्रकाश ने कहा कि देश के किसान अपनी फसल की कीमत और स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करने की मांग कर रहे हैं और केंद्र की भाजपा सरकार उनके साथ आतंकवादियों जैसा व्यवहार कर रही है। आजादी के लिए मर मिटने वाले पंजाब के लोगों को आतंकवादी कह कर अपमानित किया जा रहा है। आम आदमी पार्टी और अरविंद केजरीवाल सरकार पूरी तरह किसानों के साथ है, एक तरफ किसान का बेटा देश की सीमा पर और किसान आंदोलन में शहीद हो रहा है, दूसरी तरफ देश के गृहमंत्री हैदराबाद की सैर कर रहे हैं और उनके पास किसानों से बात करने का समय नहीं है। हिन्दुस्तान की आजादी के बाद ऐसा गैर जिम्मेदार, असंवेदनशील और किसानों की समस्याओं से बेपरवाह गृहमंत्री देश को पहली बार अमित शाह के रूप में देखने को मिल रहा है। प्रधानमंत्री के बिल की तारीफ करने से साफ है कि केंद्र की मोदी सरकार और गृहमंत्री की मंशा किसानों की समस्याओं का समाधान करने की नहीं है। अमित शाह को अपने सभी कार्यक्रमों को रद्द करके सबसे पहले किसानों से उनकी समस्याओं पर बात करनी चाहिए।सुयश कुमार ज्योति ने कहा कि इस वक्त देश का लाखों किसान आंदोलनरत है। पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश का किसान लाखों की संख्या में दिल्ली की सीमा पर बैठा हुआ है, और इस बात का इंतजार कर रहा है कि केंद्र सरकार उनसे बातचीत करेगी और उनकी समस्याओं का समाधान करेगी। एक काला कानून जो केंद्र सरकार द्वारा जबरन पास किया गया है, उसको वापस लिया जाए। मौके पर प्रदेश प्रवक्ता अमर प्रसाद, कार्यालय प्रभारी कृष्ण मुरारी गुप्ता, सतीश कुमार, कुमार विक्की, प्रमोद कुमार, शिवनाथ गुप्ता, मो० अकरम रज़ा, शैल देवी, सतीश कुमार, अमित कुमार, दीपक कुमार सहित दर्जनों कार्यकर्ता मौजूद रहे।




0 Comments: