Headlines
Loading...
संसदीय क्षेत्र सड़क सुरक्षा समिति की बैठक समाहरणालय सभाकक्ष में आयोजित किया गया।।

संसदीय क्षेत्र सड़क सुरक्षा समिति की बैठक समाहरणालय सभाकक्ष में आयोजित किया गया।।

 संसदीय क्षेत्र सड़क सुरक्षा समिति की बैठक समाहरणालय सभाकक्ष में आयोजित किया गया।।


आशीष कुमार
 माननीय सांसद, गया श्री विजय कुमार की अध्यक्षता में संसदीय क्षेत्र सड़क सुरक्षा समिति की बैठक समाहरणालय सभाकक्ष में आयोजित की गई, जिसमें मुख्य रुप से सड़क दुर्घटना रोकने हेतु कारगर उपाय, रोड-जाम के निष्पादन हेतु आवश्यक कार्यवाही, बाराचट्टी/ शेरघाटी जीटी रोड पर उत्पादों की आवाजाही की रोक लगाने हेतु सी.सी.टी.वी. कैमरा का अधिष्ठापन, जिले में ड्राइविंग स्कूल का निर्माण तथा सड़क सुरक्षा से संबंधित जन-जागरूकता कार्यक्रम के आयोजन के संबंध में विचार विमर्श किया गया।  बैठक में जिला पदाधिकारी श्री अभिषेक सिंह द्वारा माननीय सांसद का स्वागत किया गया। बैठक में माननीय सांसद द्वारा बताया गया कि वाहन चालन में कम उम्र के बच्चे तथा युवाओं द्वारा सही ढंग से  वाहन नहीं चलाने के कारण अधिकतर दुर्घटनाएं होती है। उन्होंने जिला परिवहन पदाधिकारी एम.वी.आई. को निदेश दिया कि सार्वजनिक स्थानों पर वाहन चेकिंग के दौरान ड्राइविंग लाइसेंस की जांच अवश्य करें। साथ ही अधिक उम्र के वाहन चालकों के आंखों के जांच कराना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि सड़क के किनारे वाहन खड़ा करने/पार्क करने के कारण अधिकतर दुर्घटनाएं होती है। इस पर सख्त कार्यवाही करने तथा साथ ही पिछली बैठक में दिए गए निदेश का अनुपालन भी करने का निदेश दिया गया।बैठक में जिला पदाधिकारी ने बताया कि सड़क-सुरक्षा संबंधी जन-जागरूकता कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं। उन्होंने जिला परिवहन पदाधिकारी को निदेश दिया कि सार्वजनिक स्थलों, पेट्रोल पम्प पर सड़क-सुरक्षा से संबंधित आवश्यक निदेश का प्रदर्शन हॉर्डिंग के माध्यम से करना सुनिश्चित करें। उन्होंने सहायक आयुक्त मद्य निषेध को निदेश दिया कि जी.टी. रोड पर 40 सी.सी.टी.वी. कैमरे लगाएं। बैठक में बताया गया कि 16 कैमरे लगाए गए हैं। साथ ही खराब कैमरो की मरम्मत का निदेश दिया गया है। उन्होंने बताया कि प्रत्येक जिलों में 3 ड्राइविंग स्कूल खोलने का निदेश सरकार द्वारा दिया गया है।  बैठक में समिति के सदस्यों द्वारा जीटी रोड पर क्रेन एवं एंबुलेंस रखने का सुझाव दिया गया ताकि दुर्घटना होने पर त्वरित सहायता कार्य उपलब्ध कराया जा सके। साथ ही आमस, बाराचट्टी एवं शेरघाटी में प्राथमिक उपचार की सामग्री के साथ चिकित्सकों की प्रतिनियुक्ति कराने का अनुरोध किया गया। जिला पदाधिकारी ने सिविल सर्जन को अनुपालन करने का  निदेश दिया गया।

बैठक में जिला पदाधिकारी, वरीय पुलिस अधीक्षक,  नगर पुलिस अधीक्षक, नगर आयुक्त, अपर समाहर्ता,  जिला परिवहन पदाधिकारी,  जिला शिक्षा पदाधिकारी, जिला जन-संपर्क पदाधिकारी,  सभी कार्यपालक पदाधिकारी नगर पंचायत, सभी अनुमंडल पदाधिकारी,  सहायक आयुक्त, मद्य निषेध विशेष कार्य पदाधिकारी सहित अन्य पदाधिकारी उपस्थित थें।

0 Comments: