Headlines
Loading...
प्रज्ञा आंनद के हत्यारे सास ससुर की जमानत खारिज होने के बाबजूद गिरफ़्तारी नहीं होने पर महिलाओं ने आक्रोश जताया।।

प्रज्ञा आंनद के हत्यारे सास ससुर की जमानत खारिज होने के बाबजूद गिरफ़्तारी नहीं होने पर महिलाओं ने आक्रोश जताया।।

 आंनद के हत्यारे सास ससुर की जमानत खारिज होने के बाबजूद गिरफ़्तारी नहीं होने पर महिलाओं ने आक्रोश जताया



पटना

 भारत से जुड़े महिलाओ की आज बैठक पुष्पा पाठक की अध्यक्षता और सीमा वर्मा के संचालन में आज पुनाइचक स्थित राज्य कार्यालय में हुई।बैठक को संबोधित करते हुए संस्था कि  सह संयोजिका माया श्रीवास्तव ने कहा कि एक तरफ  मुख्यमंत्री महिलाओ की सुरक्षा की बात करते है,वहीं दूसरी तरफ दो माह पूर्व ही जिला सत्र न्यायालय पटना से जमानत अर्जी खारिज होने के बाबजूद राजीव नगर थाना जला कर मार दी गई प्रज्ञा आंनद के सास और ससुर को गिरफ्तार नहीं कर रही है।दोनो की गिरफ़्तारी इसी लिए राजीव नगर थाना नहीं कर रही है कि आरोपी ससुर के एम लाल रिटायर्ड डीएसपी है। के एम लाल और सास रूमा लाल जमानत खारिज होने के बाद भी खुले आम अपने राजीव नगर रोड नंबर 17 में रहती है।इस सम्बन्ध में प्रज्ञा आंनद की मां बेबी देवी और संस्था की ओर से दर्जनों पत्र मुख्यमंत्री , डीजीपी, वरीय पुलिस अधीक्षक और एएसपी कोतवाली को  पत्र लिखा जा चुका है,परंतु  राजीव नगर थाना कांड संख्या 160/2020 में  आरोपी  रिटायर्ड डीएसपी के एम लाल व उनकी पत्नी रोमा उर्फ रूमा लाल की न तो गिरफ़्तारी हुई और न ही आज तक कुर्की जब्ती हुई। जबकि  28 मई 2020 को ही दोनो ने अपनी पतोहु  प्रज्ञा आंनद पर मिट्टी तेल छिटक कर जला कर मार दी थी।14 अक्टूबर को ही दोनो की जमानत याचिका खारिज हो चुकी है।श्रीमती श्रीवास्तव ने कहा कि उनका संगठन महिला उत्पीड़न के आरोपी के खिलाफ सड़क पर उतरेगी । प्रज्ञा आंनद के हत्यारे को पुलिस जानबूझकर बचा रही है ताकि उच्च न्यायालय से जमानत हो जाय।लेकिन संस्था अब चुप नहीं बैठेगी आरोपी के जमानत का विरोध हाई कोर्ट मै तो करेगी ही,जल्द बरिय पुलिस अधिकारी से संस्था का शिष्टमंडल भेंट करेगी।इसके बाद भी गिरफ़्तारी नहीं हुई तो पुलिस अधिकारी बरीय पुलिस अधिकारी के घेराव करेगी।बैठक में राजधानी के विभिन्न क्षेत्रों से महिलाओ ने शिरकत की,जिसमे कल्याणी रंजन, कविता देवी, सरिता देवी, पूनम सिंह, अनीता मिश्रा,पायल गुप्ता,किरण ठाकुर, सीता देवी,क्रांति कुमारी,पूजा ठाकुर, संजू देवी, आशा देवी, सबिता देवी, बबीता गुप्ता आदि प्रमुख थी।




                                                                                                        

                               

                                                                                                                 

0 Comments: