Headlines
Loading...
रोटरी क्लब ऑफ पटना आर्यन्स ने आर्थिक बोझ के बिना बच्चों का पूर्नवास का अभियान शुरू किया ।।

रोटरी क्लब ऑफ पटना आर्यन्स ने आर्थिक बोझ के बिना बच्चों का पूर्नवास का अभियान शुरू किया ।।

रोटरी क्लब ऑफ पटना आर्यन्स ने आर्थिक बोझ के बिना बच्चों का पूर्नवास का अभियान शुरू किया ।।


पटना 

 राॅट्री कल्ब आफ पटना आर्यन्स के द्वारा टेंडर हाटर्स इंटरनेशनल स्कूल, राजेन्द्र नगर, पटना के काॅन्प्रफेंस हाॅल में एक प्रेस काॅन्प्रफेंस का आयोजन किया गया। जिसमें समाज के जाने-माने शिक्षाविद, समाज सेवक एवं स्कूल व कोचिंग के निर्देशकों ने सिरकत की। सभी ने सम्मिलित रूप से शिक्षा से जुड़े सभी निर्देशकों का आहवान किया। इस कोरोना की भयावह स्थिति में बच्चे लगभग 10 माह तक स्कूल एवं शिक्षण संस्थान जाने से वंचित रहे। किसी ने अभिभावक खोया, बहुतों व्यापार मंद हो गये, नौकरी चली गई, तनख्वाह आध्ी हो गई। शैक्षिक एवं वित्तिय संकट से समाज घिरा हुआ है। इस विषम परिस्थिति में घोर आर्थिक एवं वित्तिय संकट से अभिभावक एवं बच्चे सामना कर रहे है अतः सभी शिक्षाविदों का आहवान करते हुए बच्चों का सुगम एवं सुरक्षित पुनर्वास हेतु एक संरचना बनाने की आवश्यता है जिससे अभिभावकों पर किसी भी तरह का आर्थिक दबाव न पड़े।

अनिल कुमार (पूर्व निदेशक), काशी प्रसाद जयसवाल शोघ संस्थान शिक्षा विभाग, बिहार सरकार, पटना-1 ने कहा- ‘‘सरकार द्वारा दिये गये मार्गदर्शन एवं र्निदेशो के अनुसार स्कूल खोला जाना ही उचित है एवं स्कूल प्रबंध्न और अभिभावकों के सहयोग से यह समस्या हल होगी।’’ साथ ही साथ उन्होंने राॅट्री कलब आॅपफ पटना आर्यन्स की सराहना करते हुए यह कहा कि ‘‘कलब द्वारा आर्थिक बोझ के बिना बच्चों का पूर्नवास का अभियान अत्यंत ही सराहना एवं एक साहसिक पहल है। उन्होंने अन्य शिक्षण संस्थानों से यह अहवान किया कि वह भी अपना योग्यदान दें।’’एस.सी.ई.आर.टी भाषा विभाग के प्रमुख काशिम कुर्शिद ने अहवान का सर्मथन किया एवं बधई देते हुए कहा कि जिस प्रकार हम सभी ने एकजुट होकर स्वतंत्राता की जंग जीती उसी प्रकार हमें एकजुट होकर इस कोरोना त्रासदी से लड़ना है एवं बच्चों के भविष्य के लिए हम सभी को सामने आने की जरूरत है।इसमें रोटेरियन रवि भार्गव एवं राजीव भार्गव ने संयुक्त रूप से यह घोषणा की, कि वे अभिभावकों पर आर्थिक दबाव नही बनायेगें बच्चों का सरल एवं सुरक्षित पुनर्वास करेंगें। जो बच्चे शिक्षा से विमुख हो गये हैं, उनको वापस शिक्षा की मुख्यधरा से जोड़नें के लिए वह सभी प्रयास करेगें। रोटेरियन डाॅ0 किशोर झुनझुनवाला एवं डाॅ0 महेश प्रसाद ने कहा कि सभी सुरक्षा मानको जैसे माक्स पहनना, सैनिटाइजेसन एवं प्रयाप्त दूरी बनाये रखना आदि को ध्यान में रखते हुए स्कूलों को खोला जाना चाहिए।


इस मौके पर मौजूद हमारे अभिभावक संजीव पाठक जी ने सभी अभिभावकों का प्रतिनिध्त्वि करते हुए कहा कि टेन्डर हाॅट्र्स स्कूल के द्वारा किया गया यह प्रयास अति प्रशंसनीय है। सभी प्राईवेट संस्थानों को आगे आकर बच्चों के सुगम एवं सुरक्षीत पूर्नवास की इस मुहिम में अपना योगदान देना चाहिए।

0 Comments: