Headlines
Loading...
महिलाओं को  मान-सम्मान मिले वो भी अपनी ज़िंदगी खुल कर जी सके ।

महिलाओं को मान-सम्मान मिले वो भी अपनी ज़िंदगी खुल कर जी सके ।

महिलाओं को  मान-सम्मान मिले वो भी अपनी ज़िंदगी खुल कर जी सके।।


 हाजीपुर


 महिलाओं को उनके हक का मान-सम्मान मिले,   वो भी अपनी ज़िंदगी खुल कर जी सके, पुरूषों के बराबर उन्हें  भी अधिकार मिल सके...  आदि कईं बातों के लिए महिलाएं हमेशा एक लंबी लड़ाई लड़ती आ रही हैं। इसी बात को ध्यान में रखकर हर साल पूरी दुनिया में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जाता है। हाजीपुर के हथसारगंज स्थित स्वाभिमान लोक सेवा संस्थान में इस वर्ष भी बड़े हर्षोल्लास के साथ महिला दिवस मनाया गया। स्वाभिमान लोक सेवा संस्थान महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए कई वर्षों से कार्य करता आ रहा है। संस्था से जुड़ी असंख्य महिलाओ को मद्देनज़र  रखते हुए इस साल दिनांक 6, 7 और 8 को तीन दिन इस्माईलपुर, धरहरा  और हथसारगंज  में महिला दिवस मनाया गया। हर जगह महिलाओं की काफी बड़ी उपस्थिति देखी गई। कल दिनांक 8 को बड़े पैमाने पर स्वाभिमान लोक सेवा संस्थान में पूरे दिन कार्यक्रम रखा गया। कार्यक्रम के लिए मुख्य अतिथि के रूप में पेशेवर मीडिया विशेषज्ञ एवं बिहार प्रदेश कांग्रेस कमिटी के प्रधान योगदानकर्ता एवं जागरण समूह द्वारा सन 2017 में CSR लीडर अवार्ड से सम्मानित श्री आनंद माधब जी उपस्थित रहे। अपने विचारों को महिलाओं के सामने रखते हुए उन्होंने महिलाओं की कोरोना काल के दौरान घर में बढ़ी जिम्मेदारियों को बखूबी निभाने के लिए भूरि भूरि प्रशंसा प्रशंसा की। उन्हें शिक्षित बन नये समाज को एक नई दिशा दिखाने के लिए प्रेरित किया। विशिष्ट अतिथि के रूप में  पधारे मुजफ्फरपुर मसीही धर्मप्रसार के अध्यक्ष मान्यवर कैजिटन ओष्टा  जी ने महिलाओं को  अन्याय के ख़िलाफ़ एकजुट होकर लड़ने के  लिए आगे आने को कहा। वक्ताओं में कांग्रेस अनुसंधान डिपार्टमेंट के वाइस चेयरमैन श्री  सौरभ कुमार जी, कांग्रेस वैशाली जिले के प्रेसिडेंट श्री महेश राय जी, फादर इसीडोर  एवं वैशाली स्थित अन्तर-धर्मीय सुसंवाद केंद्र के डायरेक्टर फादर प्रणोय जी ने अपने विचार प्रकट किये। संस्था से जुड़ी किशोर-किशोरियो  ने एवं महिलाओं ने नृत्य एवं नुक्कड नाटकों के माध्यम से  महिला जागरण, सशक्तिकरण एवं अंधविश्वास जैसे विषयों पर रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत किए। संस्था के द्वारा संचालित स्वयं-सहायता समूह से जुड़ी आस-पास के गाँव एवं ब्लाक से जुड़ी करीब 600 महिलाओं ने इस विशेष दिन को यादगार बनाया। महिलाओं ने इस दिवस का समापन होली के गीत गाकर एवं एक दूसरे को गुलाल लगाकर किया। संस्था अध्यक्षा  स्मिता जी ने स्वागत एवं धन्यवाद ज्ञापन किया।

0 Comments: