Headlines
Loading...
केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे ने मंत्रालय के सचिव से बिहार में कोरोना व टीकाकरण की स्थिति पर चर्चा की।।

केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे ने मंत्रालय के सचिव से बिहार में कोरोना व टीकाकरण की स्थिति पर चर्चा की।।

 केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे ने मंत्रालय के सचिव से बिहार में कोरोना व टीकाकरण की स्थिति पर चर्चा की।।



 जनता से की अपील भयभीत न हो, केंद्र एवं राज्य सरकार का जो दिशा निर्देश है। उसका पालन करें।


पटना


केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने शनिवार को मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण से फ़ोन पर बिहार में कोरोना एवं टीकाकरण की मौजूदा स्थिति पर चर्चा की। उन्होंने निर्देशित किया कि मंत्रालय के अधिकारी निरंतर बिहार के स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से समन्वय स्थापित कर स्थिति पर नजर रखें। एम्स पटना में कोरोना एवं टीकाकरण की मौजूदा स्थिति पर भी विस्तार से चर्चा हुई।


केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे होम क्वॉरेंटाइन में है। उनके निजी सहायक एवं सुरक्षाकर्मी कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। इसके उपरांत उन्होंने अपना टेस्ट करवाया था। रिपोर्ट नेगेटिव आया है। एहतियातन वे शनिवार से होम क्वॉरेंटाइन है। 


केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री चौबे ने बताया कि केंद्र सभी राज्यों के साथ निरंतर संपर्क में है। बिहार में भी मामला तेजी से बढ़ा है। राज्य सरकार सजग एवं सतर्क है। सभी एहतियाती कदम उठाए गए हैं। किसी को कोई परेशानी ना हो इसके लिए सभी व्यवस्थाएं की निगरानी राज्य सरकार स्तर पर हो रही है। केंद्र भरपूर सहयोग कर रहा है। केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे ने बिहार में आरटीपीसीआर टेस्ट की मशीनों के अपग्रेडेशन में आईसीएमआर द्वारा किए गए कार्यो की भी जानकारी ली। उन्होंने कहा कि टेस्टिंग, ट्रैकिंग एवं ट्रीटमेंट के साथ निरंतर वैक्सीनेशन यह मूल मंत्र है। इस पर फोकस करने की आवश्यकता है। सभी राज्यों से आग्रह किया गया है कि 75 फ़ीसदी से अधिक आरटीपीसीआर टेस्ट हो। 


*जनता से की अपील भयभीत ना हो केंद्र एवं राज्य सरकार के दिशा निर्देशन का पालन करें*


केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने जनता से अपील की है कि वे भयभीत ना हो। कोविड-19 के रोकथाम को लेकर केंद्र एवं राज्य सरकार का जो दिशानिर्देश है। उसका पालन करें। इसमें ढिलाई नहीं बरतनी है। निरंतर मास्क पहने। हाथों की लगातार सफाई करते रहें। 2 गज की दूरी का ख्याल रखें। साथ ही साथ लोगों को टीकाकरण के लिए जो निर्धारित उम्र सीमा में आते हैं। उन्हें जागरूक करें।

*"टीका उत्सव" को लेकर कार्यकर्ताओं से की बात*

केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे ने प्रधानमंत्री के आह्वान पर 11 से 14 अप्रैल तक टीकाकरण के लिए "टीका उत्सव" पर 45 से अधिक उम्र के लोगों को टीका केंद्रों पर  बड़ी संख्या में  सभी  प्रोटोकॉल का पालन करते हुए  लाने के संबंध में पार्टी कार्यकर्ताओं से बात की। उन्होंने कहा कि कोरोना के विरुद्ध जंग में  टीका एक महत्वपूर्ण हथियार है। लोगों को जागरूक करना है। उन्हें टीका केंद्रों तक लाना है। टीका उत्सव अभियान को सफल बनाना है।

0 Comments: