Headlines
Loading...
बेहतर बैंकिंग सुविधा के लिए 50 नई शाखाएं खोलेगा पंजाब नेशनल बैंक।।

बेहतर बैंकिंग सुविधा के लिए 50 नई शाखाएं खोलेगा पंजाब नेशनल बैंक।।

 कोविड काल तथा लॉकडाउन से प्रभावित व्यवसायियों को तेजी से ऋण जारी करने का निर्देश।।


औरंगाबाद ।

बिहार में पंचायत स्तर पर ग्रामीणों को बैंकिंग की बेहतर सुविधा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से पंजाब नेशनल बैंक चालू वित्तीय वर्ष के अंत तक 50 नई शाखाएं खोलेगा ।बैंक के अंचल प्रबंधक संजय कांडपाल ने आज बताया कि राज्य के विभिन्न हिस्सों में बैंक की 50 नई शाखाएं खोले जाने के प्रस्ताव पर बैंक प्रबंधन आवश्यक औपचारिकताओं को शीघ्र ही अंतिम रूप प्रदान करेगा और इसके बाद बैंक की शाखा को त्वरित गति से खोलने का कार्य प्रारंभ कर दिया जाएगा । उन्होंने बताया कि इन शाखाओं के खुलने से राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में ग्रामीणों को बैंकिंग के अलावा कृषि एवं विविध प्रकार के रोजगार के लिए ऋण की सुविधा भी आसानी से सुलभ हो सकेगी ।


श्री कांडपाल ने बताया कि अभी पूरे राज्य में पंजाब नेशनल बैंक की 708 शाखाएं कार्यरत हैं तथा चालू वित्तीय वर्ष के अंत तक 50 और शाखाओं के खुल जाने से इनकी संख्या बढ़कर 758 हो जाएगी ।उन्होंने बताया कि पंजाब नेशनल बैंक का बिहार में मौजूदा व्यवसाय 70 हजार करोड रुपए का है और पिछले वित्तीय वर्ष के दौरान बैंक ने वार्षिक साख योजना  के ऋण जारी करने के लक्ष्य के तहत 92% से अधिक ऋण जारी किए  । गौरतलब है कि बैंक ने अब तक बिहार में 18000 करोड़ से अधिक का ऋण जारी कर रखा है और राज्य में कृषि , व्यवसाय , लघु उद्योग ,शिक्षा के अलावा गृह तथा वाहन ऋण जारी कर विकास में अपना विशिष्ट योगदान दे रहा है ।

अंचल  प्रबंधक ने बताया कि कोविड काल तथा लॉकडाउन के दौरान व्यवसाय , उद्योग एवं रोजगार में हुए नुकसान के मद्देनजर बैंक प्रबंधन ने व्यापारियों एवं उद्यमियों को ऋण के रूप में वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए विशेष अभियान की शुरुआत की है और इसके तहत मीट तथा ग्रीट अभियान चलाया जा रहा है । उन्होंने बताया कि व्यापारियों दुकानदारों तथा उद्यमियों को उनकी आवश्यकता के अनुरूप बैंक ने  हर संभव मदद करने की योजना पर काम करना शुरू कर दिया है ।

श्री कांडपाल ने बताया  पंजाब नेशनल बैंक ने राज्य में छोटे-छोटे फुटपाथी दुकानदारों तथा वेंडरों को प्रधानमंत्री स्वनिधि कार्यक्रम के तहत बड़े पैमाने पर 10 -10 हजार का ऋण जारी किया है ।उन्होंने बताया कि अब तक इस कार्यक्रम के तहत राज्य के करीब 9000 फुटपाथी दुकानदारों तथा वैंडरों को ऋण दिया जा चुका है ।इसके अलावा जिन वेंडरों तथा फुटपाथी दुकानदारों ने ऋण की राशि का सदुपयोग करते हुए उसे समय पर चुका दिया है , उन्हें बैंक अब नए सिरे से 20 -20 हजार रुपए का ऋण जारी करेगा ।

अंचल प्रबंधक ने बताया कि प्रधानमंत्री स्वनिधि कार्यक्रम पर  जोर देने और सभी जरूरतमंद वैडरों को ऋण जारी कर उनकी जिंदगी की गाड़ी पुनः पटरी पर लाने के लिए  सभी बैंक प्रबंधकों को विशेष निर्देश दिए गए हैं ।उन्होंने कहा कि  बैंक की शाखा या किसी भी स्तर पर इस कार्यक्रम को लागू करने में किसी  प्रकार की शिकायत पाए जाने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी ।

0 Comments: