Headlines
Loading...
बिना वैकल्पिक व्यवस्था के झोपड़ी में रहने वाले गरीबों को उजाड़ने के खिलाफ एवं सभी गरीबों को आवास के लिए मुख्यमंत्री के समक्ष झोपड़ी संघ और भाकपा ने किया प्रदर्शन।।

बिना वैकल्पिक व्यवस्था के झोपड़ी में रहने वाले गरीबों को उजाड़ने के खिलाफ एवं सभी गरीबों को आवास के लिए मुख्यमंत्री के समक्ष झोपड़ी संघ और भाकपा ने किया प्रदर्शन।।

बिना वैकल्पिक व्यवस्था के झोपड़ी में रहने वाले गरीबों को उजाड़ने के खिलाफ एवं सभी गरीबों को आवास के लिए मुख्यमंत्री के समक्ष झोपड़ी संघ और भाकपा ने किया प्रदर्शन।

   
 

पटना

झुग्गी- झोपड़ी निवासी संघ पटना एवं भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी, पटना के संयुक्त तत्वावधान में आज बिना वैकल्पिक व्यवस्था के झोपड़ी में रहने वाले गरीबों को उजाड़ने के खिलाफ एवं सभी गरीबों को आवास के लिए मुख्यमंत्री के समक्ष प्रदर्शन किया गया।


    आज सुबह से ही विभिन्न झुग्गियों में रहने वाले लाल झंडे के साथ गर्दनीबाग गेट लाईब्रेरी के पास जमा हुए और वहीं से वैनर- पोस्टर ले "झुग्गियों व गरीबों पर हमला नहीं सहेंगे, बिना वैकल्पिक व्यवस्था के झुग्गी उजाड़ना बंद करो, सभी गरीबों को आवास देना होगा, गरीबों- मजदूरों पर हमला नहीं सहेंगे' आदि नारे लगाता हुआ मुख्यमंत्री के लिए बिहार विधानसभा की ओर मार्च किया। जिसे पुलिस ने गर्दनीबाग धरनास्थल के गेट पर रोक दिया। रोकने पर पुलिस से नोक- झोक हुई तब एक प्रतिनिधिमंडल को सरकार द्वारा प्रतिनियुक्त पदाधिकारी से मिलवाना तय हुआ। जिसमें भाकपा जिला सचिव का. रामलला सिंह एवं झोपड़ी संघ के महासचिव का. देवरत्न प्रसाद के नेतृत्व में सात सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल प्रतिनियुक्त पदाधिकारी से मिला और नौ सूत्री मांग पत्र मुख्यमंत्री के लिए सौंपा। प्रतिनियुक्त पदाधिकारी ने मुख्यमंत्री तक पत्र पहुंचाने व मांगों पर कार्रवाई का आश्वासन दिया। प्रतिनिधिमंडल में उक्त नेताओं के अलावा का. शंभूशरण प्रसाद, सविता देवी, विभा देवी, पुष्पा देवी एवं सरस्वती देवी शामिल थीं। दूसरी तरफ गेट पर का. प्रमोद नंदन की अध्यक्षता में सभा हुई। जिसे संबोधित करते हुए भाकपा विधानसभा के उपनेता का. सूर्यकान्त पासवान ने झुग्गी उजाड़ने का कड़ा विरोध किया और सरकार को आगाह किया कि बिना वैकल्पिक व्यवस्था के इन्हें उजाड़ना सरकार के चरित्र को उजागर करती है। जिसे हम बरदाश्त नहीं करेंगे और सदन के अंदर भी इन सवालों पर सरकार को घेरेंगे। पटना पार्टी के सह- प्रभारी का. विश्वजीत कुमार ने कहा कि हम झोपड़ी में रहने वालों, गरीब- गुरबों व आम आदमियों को हमारी सरकार आदमी समझती हीं नहीं है। इसीलिए हम सबके जीवन और सुरक्षा की कोई फिक्र उन्हें नहीं रहता। जिसके खिलाफ हमें एकजुट हो संघर्ष करना होगा। पार्टी के राज्य कार्यकारिणी सदस्य व एटक के उप- महासचिव का. गजनफर नबाब ने स्मार्ट सिटी के नाम पर कभी अम्बेडकर नगर की झोपड़ी उजाड़ने तो कभी मलाही पकड़ी का तो कभी कहीं और का उजाड़ने की बात कही और कहा कि ये कैसा सिटी बना रहे हैं जहाँ मजदूर व आम आदमी नहीं रहेगा। का. मंगल पासवान ने कहा कि यह देश हम सबका है,सबको बराबरी का अधिकार है। तो हम बाबा सहेब अम्बेडकर, शहीद भगत सिंह, सावित्री बाई फुले, महात्मा गांधी के देश में ऐसा अत्याचार क्यों सहेंगे? इनके अलावा सभा को छात्र नेता अमन कुमार लाल, का. जीतेंद्र कुमार, का. हरेन्द्र पासवान, सुरेंद्र कुमार, का. विनोद प्रसाद ने भी संबोधित किया। उपरोक्त नेताओं के अलावे कौश्लेन्द्र कुमार वर्मा,  मनोज कुमार, चम्डू राम, अजय राऊत, सैल देवी, मानो देवी, मंजू देवी, शांति देवी, रामा देवी आदि सैकड़ों साथी आज के प्रदर्शन शामिल थे।

0 Comments: