Headlines
Loading...
पटना (बिहार) : विद्यालय बंद शिक्षक हुए भुखमरी के शिकार,केंद्र एवं राज्य सरकार अविलंब करें सहयोग - तारिक अनवर।।

पटना (बिहार) : विद्यालय बंद शिक्षक हुए भुखमरी के शिकार,केंद्र एवं राज्य सरकार अविलंब करें सहयोग - तारिक अनवर।।

 पटना (बिहार) : विद्यालय बंद शिक्षक हुए भुखमरी के शिकार,केंद्र एवं राज्य सरकार अविलंब करें सहयोग - तारिक अनवर।।



रिपोर्ट : धीरज कुमार


पटना : प्राइवेट स्कूल्स एंड चिल्ड्रेन वेलफेयर एसोसिएशन के तत्वाधान में आज पटना के होटल चाणक्या में "क्वाॅलिटी एजुकेशन फॉर ऑल" पर एक सेमिनार का आयोजन किया गया जिसका उद्घाटन पूर्व केंद्र मंत्री (भारत सरकार) एवं एआईसीसी के जेनरल सेक्रेटरी तारिक अनवर, एमएलसी प्रेमचंद्र मिश्रा, एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष शमायल अहमद, एडु विहान के सीईओ एम के वर्मा एवं विधायक  इजहारूल हुसैन ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर किया।



सेमिनार के उद्घाटन करता पुर्व केंद्र मंत्री तारिक अनवर ने कहा कि देश में निजी विद्यालयों की भूमिका को नकारा नहीं जा सकता क्योंकि कोरोना काल में  विद्यालय बंद रहने के कारण स्थिति खराब हो गई है एवं शिक्षक भुखमरी के शिकार हो गए हैं। इसलिए केंद्र एवं राज्य सरकार अभिलंब इन लोगों को सहयोग करें। आज बड़े बड़े संस्थानों में ऊंचे पदों पर कार्यरत अधिकारी, उच्च कोटि के डॉक्टरर्स व इंजीनियर्स निजी विद्यालयों से ही शिक्षित हो कर आते हैं। निजी विद्यालयों में पढ़ाई का स्तर उनमे ऊँचा होता है यही कारण है कि क्वाॅलिटी एजुकेशन पर उनका ध्यान सदैव आकर्षित रहता है। उन्होंने कहा आज किसी भी वर्ग के व्यक्ति से आप पूछें कि आपके बच्चे कहां पढ़ रहे हैं तो वे बड़े गर्व से किसी प्रतिष्ठित निजी विद्यालय का ही नाम लेते हैं।



आगे उन्होंने कहा हम देख रहे हैं जिस प्रकार कोरोना काल में भी निजी विद्यालय अपने छात्रों को ऑनलाइन के द्वारा घर बैठे शिक्षा प्रदान कर रहे हैं। ऐसे में देश की एक अग्रणी एडु टेक कम्पनी "एडु विहान" ने उच्चतम तकनीक के माध्यम से छात्रों को पढ़ाने का एक अद्भुत मंत्र प्रदान किया है जो कि सराहनीय है। कोरोना काल में पिछले 16 महीनो से विद्यालय बंद होने की वजह से करोड़ो शिक्षकों की आर्थिक स्थिति खराब हो गई है इसलिए केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार को ऐसे शिक्षकों को अविलंब मासिक वेतन एवं परिवार को चलाने के लिए राशन उपलब्ध कराना चाहिए अन्यथा लाखों शिक्षकों को भूख से जान गवानी पड़ सकती है।



वहीं एमएलसी प्रेमचंद्र मिश्रा ने अपने संबोधन में प्राइवेट स्कूल एंड चिल्ड्रन वेलफेयर एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष सम्मेलन की सराहना करते हुए उनके द्वारा शिक्षा जगत में उत्कर्ष योगदान एवं संपूर्ण हिंदुस्तान के प्राइवेट स्कूल उनके शिक्षकों एवं छात्रों के कुशल कल्याण के लिए सदैव तत्पर रहने के हेतु उन्हें बधाई दी। उन्होंने कहा कुशल बिहार एवं भारत की कल्पना प्राइवेट स्कूलों के बिना कदापि नहीं की जा सकती है। अविलंब केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार निजी विद्यालयों को स्पेशल पैकेज दे नहीं तो देश से शिक्षा खत्म हो जाएगी।


वहीं एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष शमायल अहमद ने कहा कि पिछले 16 महीनों से कोरोना महामारी की वजह से पूरे भारत के निजी विद्यालय बंद होने के कारण बच्चों की पढ़ाई पर काफी प्रभाव पड़ा है एवं अचानक से शिक्षकों को भी नए तकनीक से पढ़ाने में काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ा है ऐसे में "एडु विहान" स्कूल एन्हांसमेंट प्रोग्राम का एक बेहतर कांसेप्ट लेकर आया है जो की वास्तव में शिक्षा जगत के लिए एक वरदान के समान है। उन्होँने स्कूलों के लिए उच्चतम व नवीनतम तकनीकों के माध्यम से ऑनलाइन/हाइब्रिड/ऑफ़लाइन मोड से स्कूली कक्षाओं को एक बेहतर तरीके से स्थापित करने के लिए कड़ी मेहनत की है, इनके पास ऑफ़लाइन कक्षाओं के समान ही ऑनलाइन कक्षाओं को भी चलाने का श्रेष्ठतम अनुभव है।


प्राइवेट स्कूल्स एंड चिल्ड्रेन वेलफेयर एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष शमायल अहमद ने कहा की उनके समूह मे दो लाख से भी अधिक विधालय हैं। उन सभी मे शिक्षा प्रणाली व शिक्षण स्तर को अपडेट करने के लिये उन्होने "एडु विहान" के सीइओ एमके वर्मा से आग्रह किया है और वर्मा ने उनके आग्रह को स्वीकार करते हुये  अहमद को पूरी तरह से अश्रवसत किया है कि वो और उनकी पूरी एडु विहान टीम सभी विधालयों की शिक्षण स्तर के कायाकल्प का बीड़ा उठाती है और आने वाले समय मे उनके शिक्षा स्तर को एक नई ऊंचाइयों पर ले कर जायेगी।


आपको बता दें कि एडु विहान ने शिक्षकों को ऑनलाइन कक्षाएं संचालन सहज बनाने के लिए भी प्रशिक्षण देने का बीड़ा उठाया है जिससे की शिक्षकों को सर्वश्रेष्ठ परिणाम देने में मदद मिलेगी। एडु विहान के सीईओ एम के वर्मा ने सभी उपस्थित स्कूल संचालकों एवं सभी गणमान शिक्षाविदों को सम्बोधित करते हुए कहा कि एडु विहान पिछले 16 महीनों से विद्यालय बंद होने के कारण शिक्षकों को ट्रेनिंग एवं छात्रों को नई तकनीकों से शिक्षा प्रदान कर रहा है इसके लिये कोई शुल्क चार्ज भी नहीं लिया जाता। 


इस अवसर पर देशभर के कई जाने-माने शिक्षाविदों ने सेमिनार को संबोधित किया जिसमें मुख्य रुप से जसवीर सिंह (प्रतिनिधि, वर्ल्ड बुक ऑफ रिकार्ड्स- लंदन), सतीश कुमार (नेशनल हेड) एडु विहान, नितिन मधुकर लोनारी (अध्यक्ष लोनली सोशल ग्रुप पुणे), देवेश दिक्षित (एकेडमिक डायरेकटर) एडु विहान, जफर आलम (कॉम्पिटेटिव विंग हेड) एडु विहान सहित अनेक शिक्षाविदों ने क्वालिटी एजुकेशन फॉर ऑल पर प्रकाश डाला और कहा अभी के परिवेश में अच्छी पढ़ाई देना होगा तभी 16 महीनों से जो शिक्षा जगत में मायूसी छाई हुई थी और लगभग पढ़ाई समाप्त हो गई थी उसमें एडु विहान के द्वारा चलाए जा रहे ट्रेनिंग के माध्यम से फिर से एक बार शिक्षा बहाल होने की संभावना है।


इस अवसर पर कार्यक्रम मे मुख्य रूप से उपस्थित रहे, राष्ट्रीय संयुक्त सचिव एसपी वर्मा, प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ देवानंद झा संयुक्त सचिव इफफत रहमान, सुशीला सिंह, कैसर इमाम झारखंड के सचिव तौफीक हुसैन विद्या गौतम भारती किशोर कुमार संजय कुमार हरीश प्रसाद सहित विभिन्न जिला के जिला अध्यक्ष मौजूद रहे।

0 Comments: