Headlines
Loading...
के०एस०एस० कॉलेज के प्रभारी प्राचार्य ने मुख्यमंत्री को संबंधित पत्र सौपे।।

के०एस०एस० कॉलेज के प्रभारी प्राचार्य ने मुख्यमंत्री को संबंधित पत्र सौपे।।

 के०एस०एस० कॉलेज के प्रभारी प्राचार्य ने मुख्यमंत्री को संबंधित पत्र सौपे।।



ब्यूरो रमेश शंकर झा,


समस्तीपुर:-जिले के मोहिउद्दीननगर प्रखंड क्षेत्र में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा आपदा में सरकार आपके साथ खड़ी‌ है। पूरे बिहार के  कई जिले बाढ़ की त्रासदी झेल रहा है। हमने हवाई सर्वेक्षण किया जिसमें समस्तीपुर जिले के मोहिउद्दीननगर विधानसभा के कई क्षेत्र एवं विद्यापतिनगर प्रखंड के बारे में जानकारी ली। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा बाढ़ की लीला को देखने हम खुद आप लोगों के बीच आए हैं। सरकार हर संभव सारी सुविधा बाढ़ पीड़ितों को दे रही है। आपदा राहत कोष से प्रत्येक पीड़ित परिवारों को 6000 रू० खाते में दिया गया है। वहीं सामुदायिक किचेन व स्वास्थ्य सहित सभी व्यवस्था की गई है। किसी भी व्यक्ति को कोई परेशानी ना हो इसके लिए हम सारी व्यवस्था किये हैं। हमारे अधिकारी व स्थानीय जनप्रतिनिधिगण‌ सभी  समस्या समाधान के लिए दिन रात लगे हुए हैं। मोहिउद्दीननगर विधानसभा क्षेत्र में बाढ़ राहत शिविर का दौरा के क्रम में संवाददाताओं को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा। उन्होंने  आगे कहा कि हर समस्या के लिए यहां पदाधिकारी आपके सहयोग में लगे हैं। मुख्यमंत्री ने स्थानीय विधायक राजेश कुमार सिंह व जिला प्रशासन द्वारा राहत‌ शिविर में किए गए व्यवस्था की सराहना की। शनिवार को मुख्य कार्यक्रम मोहिउद्दीननगर नगर भवन, आपदा केंद्र मोहिउद्दीननगर में था। जे टी ए कॉलेज आपदा राहत केंद्र मोहिउद्दीननगर, आईटीआई कॉलेज पशु राहत शिविर, मोहिउद्दीननगर

एवं विद्यापतिनगर प्रखंड के शेरपुर ढेपुरा, सामुदायिक रसोई घर का निरीक्षण किया। इस मौके पर शिक्षा मंत्री विजय‌ कुमार चौधरी, विधायक राजेश कुमार सिंह, जिलाधिकारी शशांक‌ शुभंकर, पुलिस अधीक्षक मानवजीत सिंह ढ़िल्लो, एसडीएम पटोरी मो० जफर आजम, बीडीओ ओमप्रकाश,सीओ पी के रंजन, जदयू प्रखंड अध्यक्ष अमित कुमार सिंह गुल्लू,भाजपा मंडल अध्यक्ष धर्मवीर कुमार कुंवर,संजीव कुमार राय, रवीश कुमार सिंह, अंजनी सिंह, मनोज कुमार सिंह सहित स्थानीय जनप्रतिनिधि एवं जिले के सभी अधिकारीगण मौजूद थे। वहीं के०एस०एस० कॉलेज मोहिउद्दीननगर के प्रभारी प्राचार्य प्रो० अशोक कुमार सिंह ने मुख्यमंत्री को संबंधित पत्र देकर बाढ़ आपदा से पीड़ित छात्र- छात्राओं एवं उसके अभिभावकों की ओर से ध्यान आकृष्ट करते हुए कहा है कि सिर्फ मोहीउद्दीननगर ही नही अपितु बिहार के 15 जिले के 75% गांवों, घरों विद्यालयों -महाविद्यालयों में बाढ़ के पानी प्रवेश कर गया। इतना ही नहीं बल्कि सड़क पर भी चार से पांच फीट पानी बह रहा है। वैसे मैं बिहार विद्यालय परीक्षा समिति पटना अध्यक्ष द्वारा इंटरमीडिएट नामांकन एवं परीक्षा परिपत्र (फार्म) भरने की तिथि निर्धारित कर अव्यवहारिक एवं तुगलकी फरमान जारी किया गया है। एक तरफ  मुख्यमंत्री बाढ़ पीड़ितों  के राहत के प्रति अति संवेदनशील हैं। वहीं बोर्ड अध्यक्ष का फरमान लगता है कि कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय से है। आश्चर्य तो ल० मिथिला विश्वविद्यालय दरभंगा का भी है। जिसके द्वारा स्नातक परीक्षा प्रथम एवं तृतीय खंड की तिथि निर्धारित की गयी है। संभावना है कि यदि तिथि में परिवर्तन नहीं की गई तो 50 प्रतिशत छात्रा -छात्रा वंचित रह जाएंगे। अतः निवेदन है कि इस आशय पत्र के माध्यम से माननीय शिक्षा मंत्री एवं अन्य सभी संबंधित पदाधिकारी को सूचना देकर न्याय किया जाय‌। वहीं समाजसेवी रणधीर भाई ने भी क्षेत्र की समस्याओं की ओर आवेदन देकर मुख्यमंत्री का ध्यान आकृष्ट कराया।

0 Comments: