Headlines
Loading...
संस्कृत विश्वविद्यालय में जदयू के एक प्रतिनिधिमंडल ने ज्ञापन देकर शासी निकाय द्वारा नियुक्ति में आरक्षण एवं नियम तथा नियम के विपरीत नियुक्ति का अनुमोदन देने को रद्द करने की माँग की।।

संस्कृत विश्वविद्यालय में जदयू के एक प्रतिनिधिमंडल ने ज्ञापन देकर शासी निकाय द्वारा नियुक्ति में आरक्षण एवं नियम तथा नियम के विपरीत नियुक्ति का अनुमोदन देने को रद्द करने की माँग की।।

 संस्कृत विश्वविद्यालय में जदयू के एक प्रतिनिधिमंडल ने ज्ञापन देकर शासी निकाय द्वारा नियुक्ति में आरक्षण एवं नियम तथा नियम के विपरीत नियुक्ति का अनुमोदन देने को रद्द करने की माँग की।।



ज़ाहिद अनवर (राजु) / दरभंगा


*दरभंगा*--आज बिहार प्रदेश जनता दल यूनाइटेड अति पिछड़ा प्रकोष्ठ के प्रदेश महासचिव अवधेश कुमार लाल देव के साथ एक शिष्टमंडल कामेश्वर सिंह दरभंगा संस्कृत विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ शशि नाथ झा एवं डॉ सिद्धार्थ शंकर सिंह प्रति कुलपति को एक ज्ञापन देकर संबद्ध महाविद्यालयों शास्त्री एवं उप शास्त्रीय महाविद्यालयों के शासी निकाय के द्वारा नियुक्ति में आरक्षण एवं नियम तथा नियम के विपरीत नियुक्ति का अनुमोदन देने को रद्द करने तथा उच्च स्तरीय जांच समिति गठित करने की मांग की। अपने ज्ञापन में श्री लाल देव ने आगे कहा कि विश्वविद्यालय के अंतर्गत संबद्ध महाविद्यालय शास्त्री महाविद्यालय में विश्वविद्यालय अनुदान आयोग द्वारा दिए गए निर्देश एवं राजभवन के आदेश तथा आरक्षण नियमों के प्रावधान की विपरीत शासी निकाय द्वारा अवैध नियुक्तियों का अनुमोदन दिया जा रहा है जिस अनुमोदन में आरक्षण नियमों की अनदेखी की जा रही है जो नियम के विपरीत है। श्री लाल देव ने कुलपति एवं प्रति कुलपति से आग्रह किया कि एक उच्च स्तरीय जांच कमेटी के द्वारा शासी निकाय के द्वारा किए गए अवैध नियुक्ति को निरस्त किया जाए। श्री लाल देव के साथ जनता प्रतिनिधिमंडल में सीनेट सदस्य श्री सुनील भारती, सीनियर सदस्य मदन प्रसाद राय, सीनेट सदस्य डॉ अंजीत  चौधरी, जल श्रमिक प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष डॉ अनिल बिहारी खटीक, राज्य कार्यकारिणी सदस्य दीदार हुसैन चांद मौजूद रहे।

0 Comments: