Headlines
Loading...
सादे समारोह में हज़रत आएशा दरसगाहे इस्लामी सिधौली में शिक्षक दिवस का हुआ आयोजन।।

सादे समारोह में हज़रत आएशा दरसगाहे इस्लामी सिधौली में शिक्षक दिवस का हुआ आयोजन।।

 सादे समारोह में हज़रत आएशा दरसगाहे इस्लामी सिधौली में शिक्षक दिवस का हुआ आयोजन।।



ज़ाहिद अनवर (राजु) / दरभंगा


*दरभंगा*--आज हज़रत आएशा दरसगाहे इस्लामी शिक्षक संस्थान सिधौली दरभंगा में भारत रत्न पूर्व राष्ट्रपति डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन की जन्मदिवस शिक्षक दिवस के रूप में मनाया गया। एक सीधे साधे समारोह में बच्चों को उनके जीवनी पर बताते हुए संस्था के निदेशक सह उस्ताद ज़ाहिद अनवर ने कहा कि उनके बताए हुए रास्ते पर चलने से ही हमें कामयाबी मिल सकती है। इस अवसर पर उन्होंने "शिक्षकों की महत्वता बच्चों के जीवन मे कितनी है" इस पर प्रकाश डाला। संस्था के उस्ताद मौलाना नेसार अहमद कासमी ने बच्चों की तरबियत के सिलसिले में समझाते हुए कहा कि गलत और सही की परख बच्चों में जल्दी नही हो पाती है। इसलिए उस्ताद के बताए हुए रास्तों पर चलना ही असल शिक्षक दिवस माना जायेगा। संस्था के प्रिंसिपल सह उस्ताद मौलाना तनवीर अहमद की तबियत खराब होने के बावजूद बच्चों की हौसला अफजाई के लिए कार्यक्रम में कुछ पल के लिए उपस्थित हुए। संस्था के दूसरे उस्ताद मौलाना मो. सादुल्लाह ने भी बच्चों को अच्छी बातें बताई। कार्यक्रम में बच्चों के द्वारा मौजूद सभी शिक्षकों को उपहार स्वरूप कलम भेंट किया गया और मिठाई का वितरण भी किया गया। इस अवसर पर अभिभावक मो.इस्लाम सहित ज़हबी अनवर, शोहरत इस्लाम, हेना परवीन, सायना हबीब, ज़ैनब परवीन, अब्दुल रहमान, मो. मनौवार, फखरे आलम, रुख़्सिन्दा नैयर, तविंदह नैयर सहित सभी बच्चे मौजूद थे।

0 Comments: