Headlines
Loading...
सीपीआईएम कार्यकर्ता ने त्रिपुरा में हुए हमले के विरोध में निकाला  प्रतिवाद मार्च।।

सीपीआईएम कार्यकर्ता ने त्रिपुरा में हुए हमले के विरोध में निकाला प्रतिवाद मार्च।।

 सीपीआईएम कार्यकर्ता ने त्रिपुरा में हुए हमले के विरोध में निकाला  प्रतिवाद मार्च।।



ज़ाहिद अनवर (राजु) / दरभंगा


*दरभंगा*--आज त्रिपुरा में सीपीआईएम कार्यकर्ता नेताओं एवं कार्यालयों पर भाजपा और आरएसएस द्वारा सुनियोजित तरीके से किए जा रहे हमले के खिलाफ प्रतिवाद मार्च सीपीआईएम दरभंगा जिला कमेटी की ओर से निकाला गया। प्रतिवाद मार्च पोलो मैदान से चलकर आयुक्त कार्यालय समाहरणालय लहरियासराय टावर लोहिया चौक होते हुए पुनः लहरियासराय टावर पहुंचा। वही सीपीआईएम जिला सचिव मंडल  सदस्य दिनेश झा की अध्यक्षता में आयोजित सभा को संबोधित करते हुए सीपीआईएम राज्य मंडल सदस्य ललन चौधरी ने कहा कि त्रिपुरा में सत्ताधारी भाजपा आरएसएस के द्वारा सुनियोजित ढंग से सीपीआईएम दफ्तरों एवं नेता कार्यकर्ताओं पर हिंसात्मक हमले किए जा रहे हैं। उन्होंने इस हमले की निंदा करते हुए इसमें संलिप्त अपराधियों पर कार्रवाई की मांग करते हुए कहा की अगरतला स्थित राज्य मुख्यालय को भी भाजपाई के द्वारा हमला किया गया। कार्यालय को जला दिया गया। लगातार त्रिपुरा के अंदर जनवादी तरीके से किए जा रहे विरोध को दबाने की कोशिश किया जा रहा है। हमला पुलिस के सामने किए जा रहे हैं और पुलिस मुक दर्शक बनी हुई है। उन्होंने त्रिपुरा में लोकतंत्र की बहाली की मांग की। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के द्वारा लाए गए तीन कृषि कानून के खिलाफ चल रहे आंदोलन के क्रम में किसान मोर्चा ने 27 सितंबर को भारत बंद का आवाहन किया है। सीपीआईएम बंद का पुरजोर समर्थन करेगी और बड़ी संख्या में 27 मार्च को पोलो मैदान में इकट्ठा होकर आंदोलन में  एकजुटता जाहिर करेंगे। इसका व्यापक तैयारी गांव पंचायत स्तर पर चल रही है। उन्होंने सरकार से अविलंब काले कृषि कानून वापस लेने की मांग की। सीपीआईएम राज्य सचिव मंडल सदस्य श्याम भारती ने कहा कि त्रिपुरा में लोकतंत्र पर हमले किए जा रहे हैं सरकार के गलत नीतियों के खिलाफ सीपीआईएम के आवाज को हिंसा के द्वारा दबाने की कोशिश की जा रही है। विपक्ष के नेता मानिक सरकार पर भी कई दफे हमले करने की कोशिश हुई है। हिंसा आगजनी करके सीपीआईएम के आवाज को नहीं दबाया जा सकता है। सीपीआईएम त्रिपुरा में कुशासन के खिलाफ लोगों को लामबंद कर सड़क पर विरोध जता रही है वहां की सरकार हमलावरों पर कार्रवाई नहीं कर रही है और जनतांत्रिक तरीके से विरोध जता रहे सीपीआईएम कार्यकर्ताओं नेताओं पर पुलिस के मिलीभगत से झूठे मुकदमे कर कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया जा रहा है। हम इस कार्रवाई की निंदा करते हैं और भाजपा आरएसएस के अपराधिक कार्रवाई में संलिप्त सभी पर कार्रवाई की मांग करते हैं। सीपीआईएम जिला सचिव मंडल सदस्य राम सागर पासवान दिलीप भगत ने संबोधित करते हुए कहा कि फासिस्ट के द्वारा जनता के जनवादी अधिकारों एवं जनतंत्र पर किए जा रहे हमले के खिलाफ हमारी पार्टी संघर्ष तेज करेगी। आतंक फैलाकर किसान मजदूर छात्र नौजवान की आवाजों को नहीं दबाया जा सकता है। सीपीआईएम का इतिहास रहा है की सीपीआईएम ने कुर्बानी और शहादत देकर पूरे देश में लाल झंडा के परचम को लहराया है। सभा में प्रस्ताव कर त्रिपुरा में किए जा रहे हमले पर रोक लगाने एवं इस हमले में संलिप्त सभी पर कार्रवाई करने त्रिपुरा में लोकतंत्र बहाल करने की मांग की गई। सभा को सीपीआईएम जिला सचिव मंडल सदस्य नरेंद्र मंडल गोपाल ठाकुर लालबाबू साहनी रामधनी झा सुबोध चौधरी राम सागर पासवान दिलीप भगत लल् न यादव नीरज कुमार शीला देवी तबस्सुम रानी देवी राधा देवी सुनीता देवी सत्यनारायण पासवान अरुण पासवान आदि ने संबोधित किया।

0 Comments: